हरिद्वार में संतों की बैठक में भिड़े कांग्रेस नेता सतपाल ब्रह्मचारी और कैबिनेट मंत्री, जानिए क्या है वजह

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से प्रदूषण फैलाने को लेकर और अपने-अपने आश्रमों के साथ ही अखाड़ों में एसटीपी लगाने के लिए भेजे गए नोटिस को लेकर कांग्रेस नेता व पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी और शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक आपस में भिड़ गए। उनके बीच जमकर बहस हुई।

दरअसल, हरिद्वार के संत समाज में नोटिस को लेकर आक्रोश बना हुआ है। इसके चलते शुक्रवार को कनखल स्थित हरे राम आश्रम में सभी की बैठक चल रही थी। बैठक में कांग्रेस नेता सतपाल ब्रह्मचारी भी मौजूद थे। इस दौरान शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने भाजपा सरकार के विकास कार्यों को गिनाया।

साथ ही कांग्रेस सरकार के समय की गलतियां और बुराइयां पर चर्चा शुरू कर दी। इसपर सतपाल ब्रह्मचारी भड़क गए। इस मुद्दे पर दोनों के बीच बैठक में ही जमकर तीखी बहस शुरू हुई। बाद में बैठक में मौजूद वरिष्ठ संत कैलाशानंद ब्रह्मचारी समेत अन्य संतों ने किसी तरह दोनों को शांत कराया।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *