चीन में फिर लौटा कोरोना, टेस्‍ट के लिए जुटी लोगों की भारी भीड़

दुनिया में कोरोना अभी भी कहर बरपा रहा है, लेकिन चीन बहुत पहले ही इस महामारी से निपटने का दावा कर चुका है। लेकिन एक बार फिर चीन के दावों पर सवाल खड़े हो रहे हैं, क्‍योंकि यहां पर बड़े पैमाने पर कोरोना टेस्‍ट कराए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि चीन में एक बार फिर कोरोना ने दस्‍तक दे दी है, जिस वजह से जिनपिंग काफी डरे हुए हैं।

चीन ने घोषणा की कि वह क़िंगदाओ में वुहान कोरोना वायरस (COVID-19) के लिए 9 मिलियन लोगों का परीक्षण करेगा। जिसके बाद यहां पर टेस्‍ट के लिए लोगों की भारी भीड़ देखी जा सकती है। यहां से वीडियो सामने आया, जिसमें लोग लंबी-लंबी लाइनों में खड़े हैं और टेस्‍ट के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं।

चीन के गोल्डन वीक की छुट्टी के बाद, जो 1 अक्टूबर से 7 अक्टूबर तक चला। कम्युनिस्ट शासन ने गर्व के साथ कहा कि 600 मिलियन पर्यटकों ने देशभर में यात्रा की थी और लगभग 100 मिलियन टिकट बॉक्स ऑफिस पर बेचे गए थे। इन तथ्यों के बावजूद कि कोरोना वायरस केवल दुनिया के बाकी हिस्सों में है। हालांकि, रविवार (11 अक्टूबर) को चीन ने 12 पुष्टि की COVID-19 संक्रमण (छह स्पर्शोन्मुख) की घोषणा की।

मूल प्रकोप के बाद से झिंजियांग, बीजिंग, युन्नान, वुहान और जिलिन में नए मामले सामने आए हैं1 चीन ने सोमवार (12 अक्टूबर) को घोषणा की कि उसे केवल 9 दिनों के भीतर 9 मिलियन निवासियों की पूरी आबादी का परीक्षण करेगा। नतीजतन, रात में अच्छी तरह से चलने वाले परीक्षण केंद्रों के आसपास बड़े पैमाने पर लाइनें देखी गई। हालांकि इन लाइनों में सोशल डिस्‍टेंसिंग का कोई पाल नहीं किया गया और लोग एक दूसरे से सटकर खड़े हुए दिखाई दिए।

सोमवार को, “क़िंगदाओ महामारी” कीवर्ड जल्द ही चीन के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वीबो पर ध्यान केंद्रित करने वाला शीर्ष ट्रेंडिंग विषय बन गया। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म रेडिट के एक उपयोगकर्ता ने भारी भीड़ को दिखाते हुए एक वीडियो पोस्ट किया और कहा कि कोरोना वायरस परीक्षण से लगता है कि क़िंगदाओ में बड़े पैमाने पर एक सुपर स्पैडर घटना हो सकती है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *