कोरोना की वैक्सीन चाहिए तो यहां करवाना होगा रजिस्ट्रेशन, सरकारी सुविधा के लिए ये है पूरा प्रोसेस

कोरोना वायरस के प्रकोप के बाद से लोगों को एक चीज का बेसब्री से इंतजार है और वो है कोरोना की वैक्सीन. माना जा रहा है कि यह इंतजार जल्द ही खत्म होने वाला है. वैक्सिनेशन की प्रक्रिया जल्द ही शुरू होने वाली है. भारत में तीन वैक्सीन मेकर्स Pfizer, सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, भारत बायोटेक पर उम्मीदें लगाई जा रही हैं. अभी किसी भी वैक्सीन को हरी झंडी नहीं मिली है, लेकिन भारत सरकार ने लोगों तक वैक्सीन पहुंचाने के लिए प्लान बनाना शुरू कर दिया है. ऐसे में सरकार की ओर से लोगों तक वैक्सीन पहुंचाने के लिए एक सॉफ्टवेयर की भी शुरुआत की गई है, जिसके जरिए लोगों वैक्सीन के लिए अप्लाई कर सकेंगे.

दरअसल, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस वैक्सीन पर रियल टाइम मॉनिटरिंग करने के लिए ‘CO-WIN’ नाम का डिजिटल प्लेटफॉर्म शुरू किया है. ये ही वो प्लेटफॉर्म है, जिसके जरिए लोगों को वैक्सिनेशन के लिए खुद को रजिस्टर करना होगा. हाल ही में स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा था कि ‘CO-WIN’ नाम की ऐप्लीकेशन और डेशबोर्ड पूरे वैक्सिनेशन प्रोसेस को मॉनिटर करने में सरकार की मदद करेगा. सरकार जल्द ही इस ऐप की शुरुआत करेगी, जहां लोगों को वैक्सीन के लिए रजिस्टर करना होगा.

क्या करेगा ‘CO-WIN’?

इस प्लेटफॉर्म के जरिए वैक्सीन डेटा पर नज़र रखी जाएगी और इसके जरिए हेल्थकेयर वर्कर्स का डेटाबेस सरकार के पास होगा. इस प्लेटफॉर्म पर वैक्सीन और उसकी डिलवरी से जुड़ी सभी जानकारी मुहैया करवाई जाएगी. यह ऐप अलग अलग यूजर्स के हिसाब से होगा, यानी एडमिनिस्ट्रेटर, रजिस्ट्रेशन, वैक्सिनेशन के लिए अलग अलग व्यवस्था होगी. ऐप जल्द ही सार्वजनिक कर दी जाएगी और इसके जरिए लोग वैक्सीन के रजिस्टर कर पाएंगे. इस ऐप के जरिए वैक्सीन से जुड़ी कई चीजों का ध्यान रखा जाएगा. ऐसे में जानते हैं कि आखिर CO-WIN के जरिए कैसे रजिस्ट्रेशन होगा और इस ऐप से जुड़ी खास बातें…

– इस ऐप को यूजर्स जल्द ही आसानी से और फ्री में डाउनलोड कर सकेंगे.
– अगर कोई शख्स वैक्सीन लगवाना चाहता है तो उन्हें इसके लिए रजिस्टर करना होगा.
– इसके पांच मॉड्यूल होंगे, जिनमें एडमिनिस्ट्रेटर मॉड्यूल, रजिस्ट्रेशन मॉड्यूल, वेक्सिनेशन मॉड्यूल, वेनिफिशरी एक्नॉलेमेंट मॉड्यूल और रिपोर्ट मॉड्यूल शामिल हैं.
– वैक्सीन सेशन आयोजित करने वाले एडमिनिस्ट्रेटर्स के लिए एडमिनिस्ट्रेटर मॉड्यूल होगा.
– वहीं रजिस्ट्रेशन करवाने वाले लोगों के लिए रजिस्ट्रेशन मॉड्यूल होगा.
– वैक्सीन स्टेट्स अपडेट करने के लिए वैक्सीन मॉड्यूल होगा.
– एक बार वैक्सीन लग जाने के बाद उन्हें एसएमएस किया जाएगा और एक क्यूआर कोड भी बन जाएगा.
– साथ ही रिपोर्ट मॉड्यूल में लोगों को लेकर जानकारी उपलब्ध होगी.

 

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *