भारत में संक्रमण के मामले 66 लाख के पार,24 24 घंटे में 74,442 नए मामले

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के बीते आने के बाद कुल मामले 66 लाख का आंकड़ा पार कर 6,623,815 हो गए.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सोमवार सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों इस अवधि में कुल 903 लोगों की मौत हुई, जिसके बाद मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 102,685 हो चुकी है.

मंत्रालय के अनुसार, इस महामारी से स्वस्थ्य होने वाले लोगों का आंकड़ा बढ़कर 5,586,703 हो गया है, जिसके बाद इससे ठीक होने की दर 84.34 प्रतिशत हो गई है.

देश में कोरोना वायरस के 934,427 सक्रिय मामले हैं, जो कुल मामलों का 14.11 प्रतिशत है. वहीं, वायरस से मृत्यु दर 1.55 प्रतिशत हो गई है.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार चार अक्टूबर तक 79,982,394 नमूनों की जांच हुई है, जबकि रविवार को 989,860 नमूनों की जांच हुई.

भारत में कोविड-19 मरीजों की संख्या सात अगस्त को 20 लाख को पार कर गई थी, जबकि 23 अगस्त को 30 लाख के पार और पांच सितंबर को 40 लाख के पार पहुंच गई थी. 16 सितंबर को यह आंकड़ा 50 लाख के पार चला गया.

आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोविड-19 संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 10 लाख से 20 लाख तक पहुंचने में 21 दिनों का समय लगा था, जबकि 20 से 30 लाख की संख्या होने में 16 और दिन लगे. हालांकि 30 लाख से 40 लाख तक पहुंचने में मात्र 13 दिनों का समय लगा है. वहीं, 40 लाख के बाद 50 लाख की संख्या को पार करने में केवल 11 दिन लगे.

देश में 110 दिन में कोविड-19 के मामले एक लाख हुए थे और 59 दिनों में वह 10 लाख के पार चले गए थे.

वायरस के मामले और मौतें
बीते 24 घंटे या एक दिन में संक्रमण के नए मामलों की बात करें तो बीते चार अक्टूबर को 75,829, तीन अक्टूबर को 79,476, दो अक्टूबर को 81,484, एक अक्टूबर को 86,821, 30 सितंबर को 80,472, 29 सितंबर को 70,589, 28 सितंबर को 82,170, 27 सितंबर को 88,600, 26 सितंबर को 85,362, 25 सितंबर को 86,052, 24 सितंबर को 86,508, 23 सितंबर को 83,347, 22 सितंबर को 75,083, 21 सितंबर को 86,961, 20 सितंबर को 92,605, 19 सितंबर को 93,337, 18 सितंबर को 96,424, 17 सितंबर को 97,894 मामले दर्ज किए गए थे, जो अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है.

इसके अलावा 16 सितंबर को 90,123, 15 सितंबर को 83,809, 14 सितंबर को 92,071, 13 सितंबर को 94,372, 12 सितंबर को 97,570, 11 सितंबर को 96,551, 10 सितंबर को 95,735, नौ सितंबर को 89,706, आठ सितंबर को 75,809 और सात सितंबर को 90,802 नए मामले दर्ज किए गए थे.

छह सितंबर को संक्रमण के नए मामले पहली बार 90 हजार (90,632) के पार हो गए थे. 28 अगस्त को पहली बार 70 हजार (75,760) के पार, सात अगस्त को पहली बार 60 हजार (62,538) के पार, 30 जुलाई को पहली बार 50 हजार के पार हो गए थे.

इसी तरह 20 जुलाई को यह पहली बार 40 हजार के पार, 16 जुलाई को पहली बार 30 हजार के पार, 10 जुलाई को पहली बार 25 हजार (26,506) के पार, तीन जुलाई को पहली बार 20 हजार के पार, 21 जून को पहली बार 15 हजार के पार और 20 जून को संक्रमण के नए मामलों की संख्या पहली बार 14 हजार के पार हुई थी.

एक दिन या 24 घंटे के दौरान मरने वालों संख्या की बात करें तो बीते चार अक्टूबर 940, तीन अक्टूबर को 1,069, दो अक्टूबर को 1,095, एक अक्टूबर को 1,181, 30 सितंबर को 1,179, 29 सितंबर को 776, लोगों की मौत हुई थी. बीते 28 दिनों में यह पहली बार था, जब मृतकों की संख्या एक हजार से कम रही है.

इसके अलावा 28 सितंबर को 1,039 लोगों की मौत, 27 सितंबर को 1,124, 26 सितंबर को 1,089, 25 सितंबर को 1,141, 24 सितंबर को 1,129, 23 सितंबर को 1,085, 22 सितंबर को 1,053, 21 सितंबर को 1,130, 20 सितंबर को 1,133, 19 सितंबर को 1,247, 18 सितंबर को 1,174, 17 सितंबर को 1,132, 16 सितंबर को 1,290 लोगों की मौत हुई, जो अब तक की सर्वाधिक संख्या है.

15 सितंबर को 1,054, 14 सितंबर को 1,136, 13 सितंबर को 1,114, 12 सितंबर को 1,201, 11 सितंबर को 1,209, 10 सितंबर को 1,172, नौ सितंबर को 1,115 और आठ सितंबर को 1,133, सात सितंबर को 1,016, छह सितंबर को 1,065, पांच अगस्त को 1,089, चार सितंबर को 1,096, तीन सितंबर को 1,043, दो सितंबर को 1,045, एक सितंबर को 819 लोगों की मौत हुई.

10 अगस्त से 31 अगस्त तक बीते 24 घंटे या एक दिन में मरने वालों की संख्या 1007 से अधिकतम 1,092 (19 अगस्त का आंकड़ा) के बीच रही. 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच एक दिन या 24 घंटे में मौत का आंकड़ा 700 से लेकर 933 (आठ अगस्त का आंकड़ा) के बीच रहा है. एक जुलाई से 23 जुलाई के बीच यह आंकड़ा 507 से 1,129 के बीच रहा.

11 जून से 30 जून के बीच मरने वालों की संख्या 300 से 500 के अंदर रही है. 22 जून को एक दिन में मरने वालों की संख्या पहली बार 400 से अधिक रही थी. और 11 जून को पहली बार मरने वालों की संख्या 300 के आंकड़े को पार कर गई थी.

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *