ध्वज दंड हुआ खंडित; शाम को दोबारा प्रयास के बाद नए ध्वज दंड पर श्री झंडेजी आरोहण संपन्न हुआ

देहरादून के ऐतिहासिक झंडे जी के आरोहण को आस्था का जनसैलाब उमड़ पड़ा। भले ही पहली बार में झंडे जी का ध्वज दंड खंडित होने के कारण आरोहण नहीं हो सका। लेकिन शाम को दोबारा प्रयास के बाद आरोहण संपन्न हुआ। इससे पहले शाम को आरोहण के दौरान बड़ा हादसा होते-होते टल गया। झंडे जी को स्थापित करने के अंतिम क्षण में ध्वज दंड का निचला हिस्सा खंडित हो गया। जिस कारण झंडे जी का बड़ा हिस्सा श्रद्धालुओं के ऊपर जा गिरा। हादसे में 13 श्रद्धालु घायल हो गए। इनमें से सात को श्रीमहंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जबकि अन्य को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। सेवादारों और पुलिस के संयुक्त प्रयासों से स्थिति पर काबू पाया गया। 

लेकिन इससे पूरे परिसर में भगदड़ की स्थिति बन गई। गनीमत रही कि एसपी सिटी श्वेता चौबे उस समय पुलिस बल के साथ मौके पर मुस्तैद थी। उन्होंने पुलिस टीम और सेवादारों के साथ मोर्चा संभालकर घायलों को उठाने के साथ उन्हें उपचार दिलाने में देर नहीं होने दी। 
इसी बीच श्री महंत इंदिरेश से आधा दर्जन एंबुलेंस घटनास्थल पर पहुंची तो पुलिस ने इनके लिए मार्ग खाली कराया। घायलों को तत्काल महंत इंदिरेश अस्पताल पहुंचाया गया और उपचार दिया गया। इनमें सुरजीत सिंह (50) निवासी रतिया सोलन (हिमाचल प्रदेश) को गंभीर चोटें आईं हैं।
 उसके सिर में कई टांके लगे हैं। इसी बीच सीओ पटेलनगर अनुज कुमार और इंस्पेक्टर सूर्यभूषण नेगी अस्पताल पहुंचे। पुलिस और सेवादाराें को भीड़ को नियंत्रित करने में मशक्कत करनी पड़ी। हादसे के चलते पूरे इलाके को सील कर दिया गया। देर शाम श्री झंडेजी का दोबारा आरोहण शुरू हुआ, जो सकुशल संपन्न हुआ। मौसम की विषम परिस्थितियों के बावजूद भी श्रद्धालुओं का जोश देखने लायक रहा। देश-विदेश से आए हजारों श्रद्धालु इस पवित्र रस्म के साक्षी बने। 

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *