मुख्य सचिव ने ली कुम्भ मेले की तैयारियों की बैठक

आज सचिवालय सभागार में मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में कुम्भ मेला-2021 की तैयारियों से सम्बन्धित बैठक संपन्न हुई।
मुख्य सचिव ने उन्होंने हरिद्वार महाकुंभ 2021 को दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक एवं अध्यात्मिक मेला बताते हुए मेले के दौरान स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए तथा भारत सरकार के स्वच्छता अभियान को ध्यान में रखते हुए संभावित तीर्थ यात्रियों की संख्या के अनुरूप शौचालयों, स्नानघरों निर्माण एवं उनमें पानी की निकासी एवं सफाई व्यवस्था तथा रखरखाव का प्राविधान कार्ययोजना में सम्मिलित करने के निर्देश दिए।
कुंभ मेले हेतु प्रतीक चिन्ह् (लोगो) तय करने की चर्चा के दौरान मेलाधिकारी श्री दीपक रावत द्वारा विभिन्न प्रतिभागियों, ऐजेंसियों द्वारा उपलब्ध कराये गये 30 प्रतीक चिन्ह्ों का अवलोकन कराया गया, जिसपर मुख्य सचिव द्वारा चयन हेतु एक स्क्रीन कमेटी गठन के निर्देश दिए गए जिसके लिए अलग से शीघ्र बैठक बुलाने के निर्देश दिए गए एवं अन्य प्रतीक चिन्हों को भी स्क्रीनिंग कमेटी में रखने के निर्देश दिये गये। ज्ञातव्य है कि कुंभ मेले से सम्बन्धित पत्र व्यवहार आदि कार्यों हेतु प्रतीक चिन्ह् का शीघ्र तय किया जाना आवश्यक है। मुख्य सचिव ने अखाड़ा से सम्बन्धित अस्थायी निर्माण कार्यों को संपादन हेतु ग्राम्य विकास अभिकरण को कार्यदायी संस्था के रूप में नामित करने के निर्देश दिए। उन्होंने अखाड़ों के शाही स्नान के दौरान संभावित भीड़ को देखते हुए ठोस कार्ययोजना के तहत कार्य करने के निर्देश कार्यदायी संस्थाओं को दिए। मुख्य सचिव ने कुंभ मेलाधिकारी द्वारा प्रस्तुत शौचालय एवं स्नानघरों के डिजाइन, सिंचाई विभाग द्वारा किये जा रहे निर्माण कार्य यथा गंग नहर कांवड पटरी मार्ग का सुदृढ़ीकरण, दक्षेश्वर दीप पर ऐस्केप चैनल के बाये तट पर सतीघाट एवं शमशान घाट के सामने घाट निर्माण कार्य, प्रेमनगर आश्रम, रामघाट, मुनिकीरेती आस्था पथ आदि लो.नि.वि. द्वारा गतिमान निर्माण कार्यों का अवलोकन किया। कुंभ मेलाधिकारी श्री दीपक रावत द्वारा कुंभ मेला 2021 के अंतर्गत विभिन्नि विभागों यथा लो.नि.वि., हरिद्वार विकास प्राधिकरण, यू.पी.सी.एल., सिंचाई, पेयजल निगम, जल संस्थान, नगर निगम हरिद्वार,/ऋषिकेश, नगर पालिका रूड़की/जिला पंचायत स्वर्गआश्रम, पुलिस, चिकित्सा, पशुपालन, आयुर्वेद, होमगार्ड, पी.आर.डी., वन, भेड़ी, गृह, ऊर्जा, मेला अधिष्ठान कार्यालय, पर्यटन, परिवहन द्वारा लगभग 1000 करोड़ लागत के आंकलनों पर संबंधित विभागाध्यक्षों से विभागवार विचार-विमर्श किया गया।
इस अवसर पर डीजी कानून और व्यवस्था श्री अशोक कुमार, सचिव शहरी विकास श्री शैलेश बगौली, आयुक्त गढ़वाल मण्डल श्री रविनाथ रामन, आई.जी. श्री संजय गुन्जयाल, सचिव वित्त श्रीमती सौजन्या, सचिव सिंचाई डॉ भूपेन्द्रर औलख, आई.जी. मुख्यालय श्री पुष्पक ज्योति, अपर सचिव श्री विनोद कुमार सुमन, एस.एस.पी. मेला श्री जन्मेजय खण्डूरी, अपर मेलाधिकारी श्री हरवीर सिंह आदि उपस्थित थे।  

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *