छात्रवृत्ति घोटाले की जांच अंतिम चरण में, कुछ महीनों में सामने आएगी घोटाले की पूरी कहानी

सामाज कल्याण विभाग में अनुसूचित जाति जनजाति की छात्रवृत्ति के घोटाले की जांच अब अंतिम चरण में पहुंच गई है। पिछले दिनों नैनीताल हाईकोर्ट में एसआइटी की ओर से दाखिल हलफनामे में बताया गया है कि सतहत्तर फीसदी जांच पूरी हो चुकी है। 23 फीसदी जांच बची है। माना जा रहा है कि अगले कुछ महीनों में इस चर्चित घोटाले की पूरी कहानी सामने आ जायेगी।

छात्रवृत्ति घोटाले में करीब पांच सौ करोड़ रुपये का बंदरबांट किए जाने की आशंका है। यह उत्तराखंड का सबसे चर्चित घोटाला है। जिसने समाज कल्याण विभाग से लेकर निजी शैक्षणिक संस्थाओं की पोल खोलकर रख दी है। भाजपा नेता रविन्द्र जुगरान व अन्य की जनहित याचिका पर नैनीताल हाईकोर्ट के निर्देश पर वर्ष 2012 से लेकर 2018 के मध्य हुए घपले की जांच चल रही है। बीते मार्च महीने में जांच में तब सुस्ती आ गई, जब कोरोना का संकट मंडराने लगा।

 

 

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *