अनलॉक 05 के तहत सिनेमाघर खुलने से पहले जारी हुईं SOP, नहीं देख सकेंगे नई फिल्मे

सूचना प्रसारण मंत्रालय ने देश भर में 15 अक्तूबर से सिनेमाघरों को खोलने के लिए जरूरी दिशा निर्देश (एसओपी)जारी कर दिए हैं। सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि सिनेमाघर 50 फीसदी क्षमता से खुल सकेंगे। दर्शकों के बीच एक सीट की दूरी व मास्क पहनने की अनिवार्यता होगी। साथ ही सैनिटाइजर भी जरूरी होगा। वहीं, सूत्रों का कहना है कि अत्यधित सावधानी बरतने और कम समय के नोटिस के कारण फिलहाल नई फिल्म हॉल में जारी नहीं हो पाएंगी।

सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मंगलवार को सिनेमाघरों के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) की घोषणा की। अपने आवास पर संवाददाताओं से उन्होंने कहा कि 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ 15 अक्तूबर से सिनेमा हॉल खोलने की अनुमति होगी। साथ ही मास्क पहनना और दर्शकों के बीच एक सीट की दूरी रखना अनिवार्य होगा। जावड़ेकर ने बताया कि कोरोना से बचाव के बारे में जागरूकता फैलाने वाली एक मिनट की एक फिल्म दिखाया जाना या इस बारे में घोषणा किया जाना अनिवार्य होगा।

हर शो के बाद हॉल सैनिटाइज होगा
जावड़ेकर ने कहा कि एक शो खत्म होने के बाद पूरा हॉल सैनिटाइज करना होगा, तभी दूसरा शो आरंभ होगा। सिंगल स्क्रीन में टिकट बुकिंग के लिए ज्यादा खिड़कियां खोलनी होंगी। सभी जगह ऑनलाइन टिकट बुकिंग को बढ़ावा दिया जाएगा। पैक्ड खाना मिलेगा, लेकिन उसे हाल के अंदर नहीं खाया जा सकेगा। हॉल और सार्वजनिक क्षेत्र में लोगों के बीच 6 फीट की दूरी, हॉल और सार्वजनिक क्षेत्र में मास्क लगाना, प्रवेश द्वार और निकास द्वार पर टेम्परेचर की जांच करना और सैनिटाइजर रखना अनिवार्य होगा। साथ ही हॉल में 23 से 25 डिग्री तापमान बनाए रखना होगा। इसके साथ ही हवा की आवाजाही बेहतर होनी चाहिए।

कर्मचारी मास्क के साथ ग्लव्स भी पहनेंगे
सिनेमा हॉल में कार्य कर रहे कर्मचारियों को सभी नियमों का पालन करना होगा, जिसमें मास्क, ग्लव्स पहनना अनिवार्य होगा। मंत्रालय के मानक प्रक्रिया के अनुसार कंटेनमेंट जोन में सिनेमाघर नहीं खोले जा सकेंगे। राज्य सरकारें इन उपायों के साथ स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार अतिरिक्त दिशा निर्देश जारी कर सकती हैं। श्

फिलहाल सिनेमाघरों में नई फिल्म के आसार नहीं  

रिलायंस एंटरटेनमेंट ग्रुप के सीईओ सिबाशीष सरकार ने कहा कि सिनेमाघरों को फिर से खोलना उद्योग के लिए एक सकारात्मक संकेत है, लेकिन नई फिल्म देखना मुश्किल होगा। हम दिवाली पर (14 नवंबर को) किसी भी फिल्म को रिलीज नहीं कर रहे हैं। आप 10 या 15-दिन की नोटिस अवधि में फिल्म कैसे जारी कर सकते हैं?

जयपुर के एक मल्टीप्लेक्स के मालिक राज बंसल ने कहा कि ऑपरेटिंग सिनेमाघरों की लागत कम से कम 10 प्रतिशत बढ़ जाएगी, क्योंकि परिसर को नियमित रूप से साफ करने की आवश्यकता होगी। सिनेपोलिस इंडिया के सीईओ देवांग संपत का स्पष्ट कहना है कि सिनेमा हॉल नियमित व्यवसाय में वापस नहीं आ सकते हैं,जब तक कि ताजा सामग्री न हो। निर्माता बोनी कपूर ने कहा कि दर्शकों को सिनेमाघरों में आने की आदत डालने में कुछ सप्ताह लगेंगे।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *