उत्तराखंड का आदमखोर गुलदार हुआ ढ़ेर, तीन दिन में दो बच्चों को बना चूका था निवाला

उत्तराखंड के नरेंद्रनगर ब्लॉक में आदमखोर गुलदार को ढ़ेर कर दिया गया है। जिसके बाद स्थानीय लोगों ने राहत की सांस ली। गुलदार तीन दिन में ही दो बच्चों को निवाला बना चूका था। टिहरी जिले के नरेंद्रनगर ब्लॉक के कसमोली गांव में मंगलवार को दुखद घटना घटी, जहां सात साल के रौनक पुत्र प्रताप सिंह रमोला को गुलदार उठाकर ले गया था। बच्चे का अधखाया शव जंगल से बरामद किया गया।

वन विभाग को सोचना मिलते ही वन विभाग के शूटर जॉय हुकिल ने क्षेत्र में गुलदार पर नजर रखी। सक्रिय नरभक्षी गुलदार को वन विभाग की टीम ने रात में ही ढेर कर दिया। बता दें कि रविवार रात को भी गुलदार ने नरेंद्रनगर के आगराखाल के पास पीपलसारी तोक में सात वर्षीय बालिका पर हमला कर दिया और उसे घर के आंगन से घसीटकर कर ले गया। कुछ देर बाद ग्रामीणों ने जब बालिका की तलाश की तो कुछ दूरी पर ही बालिका का अधखाया शव मिला। इसके बाद वन विभाग ने गुलदार को आदमखोर घोषित कर मारने के आदेश दे दिए थे।

मंगलवार को एक बार फिर गुलदार ने कसमोली गांव में घर के आंगन में खेल रहे सात वर्षीय रौनक पर हमला कर दिया और उसे उठाकर जंगल की ओर भाग गया। बच्चे के पिता और ग्रामीणों ने शोर मचाया, लेकिन गुलदार तब तक बच्चे को काफी दूर ले गया। काफी देर खोजबीन के बाद बच्चे का अधखाया शव बरामद हुआ। दुखद के घटना के बाद गाँव में मातम पसरा है वहीं, घटना के गुलदार के मारे जाने पर स्थानीय लोगों ने राहत की सांस ली है। वन विभाग ने गुलदार का शव बरामद कर लिया गया है। जिसे पोस्टमार्टम के लिए पशु चिकित्सालय भेजा गया है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *