कोरोना वायरस के लिए इंश्योरेंस दे रहा है ये बैंक, 1 महीने के लिए 5000 रुपये रोजाना का कवर

Coronavirus: देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. सरकार भी कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए कई कदम उठा रही है. DBS बैंक ने इस महामारी के बीच ग्राहकों की मदद करने के लिए कई पहल और कदमों का एलान किया है. इसी सिलसिले में बैंक ने भारती AXA के साथ समझौता किया है और DBS Treasures के  ग्राहकों के लिए इंश्योरेंस शुरू किया है. इसमें सभी मेडिकल स्थितियों को कवर किया गया है जिसमें कोविड-19 भी शामिल है. इसमें 10 दिन तक अस्पताल में भर्ती होने पर 5000 रुपये प्रति दिन का कवर 30 दिन की अवधि के लिए उपलब्ध है.

ऐप पर सभी सुविधाएं मौजूद

इसके अलावा सभी DBS ग्राहक उन हेल्थ इंश्योरेंस प्रोडक्ट्स को खरीद सकते हैं जो वर्तमान में डिजिबैंक ऐप पर जनरल इंश्योरेंस पार्टनर के जरिए उपलब्ध हैं. DBS सभी ग्राहकों को कॉन्टैक्टलैस बैंकिंग की सुविधा देता है, जिसमें उनके बैंक से जुड़े सभी काम ऐप पर हो जाते हैं और उन्हें बैंक की ब्रांच पर जाने की कोई जरूरत नहीं है. ऐप पर आसानी से कुछ क्लिक में वे फंड ट्रांसफर, पर्सनल लोन लेना या विदेश पैसे भेज सकते हैं. बैंक अपने इंश्योरेंस पार्टनर के साथ समय-समय पर बैठक कर रहा है जिससे प्रोडक्ट्स तक ऑनलाइन एक्सेस की सुविधा बेहतर की जा सके.

देश के बाहर रहने वाले भारतीयों (एनआरआई) की मदद करने के लिए जिससे वे कोरोना वायरस के इस संकट के दौरान भारत में रहने वाले अपने करीबियों का ध्यान रख सकें, बैंक इमरजेंसी ग्लोबल मेडिकल असिस्ट प्रोग्राम पेश कर रहै है जिससे मेडिकल सपोर्ट का 24×7 एक्सेस मिलता है. इसमें अस्पताल में भर्ती होने से लेकर NRI के लिए इमरजेंसी मेडिकल निकासी की व्यवस्था करना शामिल है.

ATM को भी किया जा रहा है इंफेक्शन प्रूफ

इसके अलावा ग्राहकों की सेहत और सुरक्षा पर ध्यान देते हुए, बैंक अपने सभी एटीएम और बायोमैट्रिक डिवाइसेड में एंटी-माइक्रोबियल कोटिंग जोड़ रहा है. वैश्विक तौर पर DBS ने ग्राहकों के लिए कम्युनिटी सपोर्ट के कदमों को बढ़ाया है जिसमें कोविड-19 इंश्योरेंस कवरेज शामिल है. छोटे और मध्यम उद्योगों के लिए DBS ने कई डिजिटल कदम लिए हैं जिसमें कंपनियों को डिजिटल ट्रांजैक्शन को फास्ट-ट्रैक किया जाता है. इसके साथ कुछ अतिरिक्त लिक्विडिटी की राहत देने के कदम भी लिए गए हैं जिसमें सिंगापुर के SME और कंपनियों की कैश फ्लो की जरूरतें पूरी हों.

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *