उत्तराखंड राज्य में 56 हजार सरकारी पद खाली , सरकार नहीं जुटा पा रही हिमत

इस वित्तीय वर्ष की समाप्ति तक प्रदेश सरकार विभागों में गजटेड अफसरों से लेकर चपरासी तक करीब 56 हजार पद खाली हैं। इसमें सबसे अधिक संख्या समूह ग (क्लास थ्री) के पद हैं। वित्तीय संकट का सामना कर रही प्रदेश सरकार इन खाली पदों को भरने का हिमत नहीं जुटा पा रही है।
प्रदेश की सत्ता पर काबिज होने के बाद से ही अब तक खाली पदों की संख्या में खास कमी नहीं आई है। इसकी एक बड़ी वजह नई नौकरियों का बढ़ने वाला खर्च है,

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस वित्तीय वर्ष को रोजगार वर्ष घोषित किया है। वे खाली पदों को भरने के संबंध में विभागीय अधिकारियों को कई बार ताकीद कर चुके हैं। लेकिन शासन स्तर पर वैसी तेजी नहीं है, जैसी प्रदेश का बेरोजगार सरकार से आशा कर रहा था।

भराड़ीसैंण विधानसभा में बजट पेश करने के दौरान प्रदेश सरकार ने राजपत्रित और अराजपत्रित पदों की एक रिपोर्ट सदन के पटल पर रखी। इस रिपोर्ट के अनुसार, 31 मार्च 2019 तक प्रदेश के सरकारी विभागों में 56,474 पद खाली हैं। इनमें सबसे अधिक 37547 पद अकेले समूह ग (क्लास थ्री) के हैं। इन्हीं पदों पर प्रदेश के अधिकांश नौजवानों की निगाहें लगी हुई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *