मौसम में आए बदलावों का नतीजा पक्षियों पर भी;गर्मियों में नजर आने वाले पक्षियों का फरवरी में हो रहा दीदार

मौसम के मिजाज में आए बदलावों का ही नतीजा है कि कोटद्वार और आसपास के क्षेत्रों में जो पक्षी गर्मियों के दौरान नजर आते थे, उनका अब फरवरी में ही दीदार होने लगा है। वर्तमान में इन अप्रवासी पक्षियों की मौजूदगी लैंसडौन प्रभाग के जंगलों के साथ ही बस्तियों के आसपास भी दिखाई दे रही है।पक्षी प्रेमियों के लिए गढ़वाल का प्रवेश द्वार कोटद्वार व आसपास का क्षेत्र स्वर्ग से कम नहीं है। यहां पक्षियों की 350 से अधिक प्रजाति वास करती हैं।

इसलिए पक्षी प्रेमी वर्षभर इनके दीदार को यहां आते रहते हैं। इनमें प्रवासी पक्षियों की भी बहुतायत है। पिछले कुछ समय से तो ऐसे कई पक्षी भी दिखाई दे रहे हैं, जिन्होंने बाहर से आकर क्षेत्र के जंगलों में बसेरा बनाया है। इनमें ब्लैक कैप्ड किंगफिशर, लांग टेल्ड ब्रॉडबिल, ब्राउन डिपर, फुर्र टेल्ड सनबर्ड, यलो बिल्ड फिनटेल, ब्लैक नेप्ड मोनार्च, बोनल ईगल जैसी कई पक्षी प्रजाति हैं, जो क्षेत्र में नजर आ रही हैं। पक्षी विशेषज्ञ राजीव बिष्ट बताते हैं कि जलवायु परिवर्तन के कारण पक्षी तेजी से अपना बसेरा बदल रहे हैं। इसका प्रमाण है कोटद्वार क्षेत्र के जंगलों में प्रवासी पक्षियों की बढ़ती आमद।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *