एक दिन में बदरीनाथ में 1800 और केदारनाथ में 900 श्रद्धालु ही कर पाएंगे दर्शन

उत्तराखंड देवस्थानम बोर्ड ने चारधाम यात्रा की तैयारियां पूरी कर ली हैं। बोर्ड अब सिर्फ सरकार के निर्देश के इंतजार में है। चारों धामों में सामाजिक दूरी का पालन कराने को दो-दो मीटर की दूरी पर गोले बना दिए गए हैं, ताकि यदि यात्रा शुरू हो, तो श्रद्धालुओं के बीच एक तय दूरी बनी रहे।

दर्शन को श्रद्धालुओं की भीड़ न लगे, इसीलिए उनकी संख्या को तय किया गया है। यदि कोरोना काल में यात्रा शुरू होती है तो प्रति दिन बदरीनाथ धाम में 1800, केदारनाथ धाम में 900, गंगोत्री में 600 और यमुनोत्री में 450 श्रद्धालु ही दर्शन कर पाएंगे। उत्तराखंड देवस्थानम बोर्ड ने फिलहाल बदरीनाथ धाम में एक दिन में अधिकतम 1800 श्रद्धालुओं के ठहरने की व्यवस्था की है।

देवस्थानम बोर्ड के सीईओ रविनाथ रमन का कहना है कि यात्रा शुरू करने को लेकर देवस्थानम बोर्ड ने अपने स्तर पर सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। सिर्फ सरकार के दिशा निर्देशों का इंतजार है। जैसे ही निर्देश मिलेंगे, उसी के अनुरूप आगे की कार्रवाई होगी। उन्होंने आगे बताया कि सोमवार को संबंधित लोगों से बात करके जिलाधिकारी चारधाम यात्रा को लेकर रिपोर्ट देंगे। उसके बाद ही फैसला लिया जाएगा। सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक, राज्य से बाहर के श्रद्धालु को किसी भी मंदिर के दर्शन की मंजूरी नहीं होगी। मंदिर सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक खुल सकेंगे।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *