ग्रामीणों ने जिसको सौंपा था विकास का जिम्मा, उसी ने किया दगा

घनसाली विधानसभा के ग्यारह गाँव हिन्दाव पट्टी में इन दिनों एक मोटरमार्ग ग्रामीणों के लिए जी का जंजाल बना हुआ है.. आपको बता दें की देश की आजादी के 74 वर्ष बाद विधानसभा क्षेत्र के आली, सरूणा, चोंरा, कोट, चांजी के ग्रामीणों की मागं पर पीएमजीएसवाई द्वारा मोटरमार्ग का निर्माण कार्य शुरू करवाया गया था। लेकिन अब निर्माण कार्य कुछ आपत्तियों के चलते विवाद में है। स्थानीय ग्रामीणों ने आरोप लगते हुए कहा कि ग्राम सभा के कुछ लोगों द्वारा अपने निजी स्वार्थ व अपनी राजनीती को चमकाने के लिए मोटरमार्ग के निर्माण कार्य को रोकने के लिए आपत्ति लगायी गयी.. आपत्तिकर्ताओं मे कोट ग्राम पंचायत की प्रधान भी शामिल है.. जिससे स्थानीय ग्रामीणों में काफी आक्रोश है..
प्रशासन व विभाग ने आपत्ति का संज्ञान लेने के बाद शुक्रवार को आपत्तिकर्ताओं व ग्रामीणों को बैठक के लिए बुलाया.. लेकिन बैठक में स्थानीय विधायक शक्तिलाल शाह सहित ग्रामीणों ने ही शिरकत की व आपत्तिकर्ता बैठक से नदारत रहे.. जिससे साफ़ जाहिर होता है की दाल में कुछ काला नही अपितु दाल ही काली है..
बैठक के दौरान ग्राम पंचायत कोट के निवासी मथुरा प्रसाद नैथानी नें भरी सभा में रोस व्यक्त करते हुए सवाल खड़े किये हैं जब ग्राम पंचायत में कोई बैठक आहूत नहीं की गई है तो ऐसे में श्रीनगर में बैठकर प्रधान नें गाँव ग्राम सभा के लोगों के साथ तो छलावा किया ही है ।साथ ही अपने पद और मोहर का भी गलत स्तमाल किया है जो छमा करने योग्य नहीं है वहीं ग्राम सभा के समस्त वार्ड सदश्यों से अविश्वास प्रस्ताव पारित की मांग की है.. साथ ही सामाजिक कार्यकर्ता विक्रम घणाता ने निर्माण कार्य को रुकवाने की कोशिश करने और सरकारी काम में बाधा डालने वाले लोगों के खिलाफ शासन प्रशासन से जांच की मांग की है विक्रम घणाता का कहना है की जो लोग प्रशासन के बुलाने पर भी बैठक में नहीं आए लेकिन निर्माण स्थल पर जरूर पहुंचे हैं और कई लोग ऐसे भी हैं जो सरकारी सेवाओं में कार्यरत हैं और सरकारी कार्यों में बाधा डालने आए हैं और ग्रामीणों को भड़काने का काम कर रहे हैं ऐसे लोगों की जाँच की जानी चाहिए. वहॉं स्थानीय ग्रामीण व सामाजिक कार्यकर्ता अंकित नैथानी ने कहा कि प्रशासन द्वारा संबंधित मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिये और विभाग को मोटरमार्ग का निर्माण कार्य जल्द ही पूरा करना चाहिए।
वहीं इस अवसर पर क्षेत्र के विधायक शक्तिलाल शाह ने ग्रामीणों की मांग का समर्थन करते हुए कहा की मोटरमार्ग का निर्माण कार्य पूर्व में निर्धारत सर्वे, अलायमेंट के आधार पर जनता के अनुकूल ही होना चाहिए..
वहीं प्रशासन की ओर से बैठक में आये हुए पटवारी ने ग्रामीणों को अस्वस्थ किया है की बैठक में हुई चर्चा से स्थानीय प्रशासन को अवगत कराया जायेगा व् जल्द ही इस समस्या का समाधान किया जायेगा.

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *