दिल्ली दंगों के केस में आरोपित उमर खालिद को यूएपीए के तहत हिरासत में लिया गया

दिल्ली हिंसा मामले में खालिद समेत आठ लोगों के खिलाफ स्पेशल सेल ने गैर-कानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत मामला दर्ज किया है। इसके तहत खालिद समेत एफआईआर की जद में आए सभी के खिलाफ देशद्रोह, हत्या, हत्या का प्रयास और दंगा सहित कई संगीन आरेप हैं।

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने उमर खालिद को समन देकर पूछताछ के लिए बुलाया गया था। 11 घंटे लम्बी पूछताछ के बाद उमर खालिद को गिरफ्तार किया गया है।

वही दूसरी ओर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने जाफराबाद में हुई हिंसा के मामले में देवांगना कलिता, नताशा नरवाल ,गुलफिशा फातिमा के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर की है। इन आरोपियों ने अपने बयान में प्रोफेसर अपूर्वानंद ,योगेंद्र यादव ,सीताराम येचुरी ,डॉक्यूमेंट्री फिल्मकार राहुल रॉय ,इकोनॉमिस्ट जयती घोष,एमएलए मतीन अहमद ,अमानतुल्लाह खान, उमर खालिद का नाम भी लिया है।

खालिद पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा से पहले कथित रूप से दो अलग-अलग स्थानों पर भड़काऊ भाषण दिए जाने का आरोप है। उन दोनों ही भाषण को लेकर उससे दो राउंड की पूछताछ की गई थी। खालिद पर ट्रम्प की यात्रा के दौरान कथित तौर पर जनता से सड़कों पर आने की अपील किए जाने को लेकर उनसे पूछताछ की की गई।

उमर खालिद का नाम दिल्ली दंगों की चार्जशीट में है और दंगें के आरोपियों के बयानों के आधार पर उसकी भूमिका स्पष्ट बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि आने वाली 17 सितंबर को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल चार्जशीट पेश करेगी और उसमें उमर खालिद की पूरी भूमिका के बारे में जानकारी दी गई है।

गौरतलब है कि सीएए विरोधी प्रदर्शन के बीच फरवरी 2020 में हुए दिल्ली दंगों में 53 लोगों की मौत हो गई थी और करीब 200 लोग घायल हुए थे। ताहिर हुसैन ने पूछताछ के दौरान बताया था कि उसने 8 जनवरी को ही सीएए विरोधी प्रदर्शन स्थल शाहीनबाग में खालिद सैफी और उमर खालिद के साथ मिलकर इस दंगे की योजना बना ली थी।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *