प्रमोद भगत ने रचा इतिहास, पैरालंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले पहले भारतीय शटलर बने

मौजूदा विश्व चैम्पियन प्रमोद भगत ने टोक्यो पैरालंपिक गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने के साथ ही इतिहास रच दिया है। इस साल पैरालम्पिक में पहली बार बैडमिंटन को शामिल किया गया था। ऐसे में प्रमोद भगत पैरालंपिक गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले पहले भारतीय शटलर बन गए हैं। प्रमोद ने बैडमिंटन के मेन्स सिंगल्स SL3 फाइनल में ब्रिटेन के डेनियल बेथेल को 21-14, 21-17 से हराते हुए गोल्ड अपने नाम किया। वहीं, मनोज सरकार मेन्स सिंगल्स SL3 में ब्रॉन्ज मेडल जीतने में सफल रहे। सरकार ने जापान के दाइसुके फुजीहारा को हराया।
बता दें, ओडिशा के रहने वाले प्रमोद भगत बचपन में पोलियो से ग्रस्त हो गए थे। प्रमोद टोक्यो पैरालंपिक में पुरुष सिगल्स SL3 और मिश्रित युगल SL3-SU5 में पलक कोहली के साथ हिस्सा ले रहे हैं। हालांकि भगत और पलक कोहली की भारतीय मिश्रित युगल जोड़ी को एसएल3-एसयू5 वर्ग के सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा। यह जोड़ी अब ब्रॉन्ज मेडल के लिए चुनौती पेश करेगी।

SL3 में उन खिलाड़ियों को शामिल किया जाता हैं जिन्हें खड़े रहने में मामूली समस्या होती है या उनके निचले अंग में समस्या होती है। SU5 में वे खिलाड़ी शामिल होते हैं जिनके ऊपरी अंग में समस्या होती है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *