रूस ने तैयार की कोरोना वैक्सीन, सफल हुआ पहला ह्यूमन ट्रायल

इंस्टीट्यूट फॉर ट्रांसलेशनल मेडिसिन एंड बायोटेक्नोलॉजी (Institute for Translational Medicine and Biotechnology) के निदेशक वादिम तरासोव ने अंग्रेजी वेबसाइट स्पुतनिक और न्यूज एजेंसी एएनआई को जानकारी देते हुए कहा के रूस द्वारा बनाई गई कोरोना वैक्सीन दुनिया की सबसे पहला कोरोना वायरस वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) होगी जिसे इंसानों पर ट्रायल के बाद सफल माना गया। कोरोना वैक्सीन का ट्रायल 18 जून को रूस के गेमली इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा निर्मित टीके के क्लिनिकल ट्रायल शुरू किया था। रूसी स्वास्थ्य मंत्रालय ने 18 जून को देश में कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीन के ​​परीक्षण की पुष्टि की थी. उन्होंने बताया था कि 38 लोगों पर पहले चरण का ह्यूमन ट्रायल शुरू किया गया है।

 सेचनोव यूनिवर्सिटी में इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल पैरासिटोलॉजी, ट्रॉपिकल एंड वेक्टर-बॉर्न डिजीज के निदेशक अलेक्जेंडर लुकाशेव के अनुसार, अध्ययन के इस चरण का मुख्य उद्देश्य था कि मानव स्वास्थ्य पर इस वैक्सीन का कोई जोखिम होता है या नहीं. जिसमें टीम को सफलता मिली है. लुकाशेव ने बताया कि अध्ययन में पाया गया है कि यह टीका मानव शरीर में जाकर कोई साइड इफेक्ट नहीं उत्पन्न करता है. अत: इसे पूरी तरह सुरक्षित माना जा सकता है. उन्होंने कहा है कि आगे की वैक्सीन विकास योजना पहले से ही डेवलपर ने तय कर रखी है. उसी रणनीति पर कार्य किया जा रहा है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *