40 डिग्री टेंपरेचर में भी बिना AC ठंडा हो जाएगा कमरा

चिलचिलाती और चिपचिपाती गर्मी का दौर शुरू हो चुका है। तापमान लगातार बढ़ रहा है औऱ लोग घरों में कूलर और AC चलाकर घर को ठंडा रखने का प्रयास कर रहे हैं। कई लोग AC नहीं चलाना चाहते, कुछ घरो AC नहीं है। कुछ राज्यो में तो AC होने के बावजूद उसे चला नहीं पाते क्योंकि लाइट की दिक्कत रहती है। इसलिए कुछ ऐसा होना चाहिए कि बिना AC भी कमरा ठंडा और कूल रहे ताकि उसकी जरूरत ही न पड़े। बिना एसी कमरा ठंडा करना कोई बड़ी बात नहीं है, आप कुछ टिप्स फॉलो कीजिए तो कमरा बिलकुल ठंडा हो जाएगा, जैसे AC चल रहा हो।
अपराधी खिड़की को कर डालिए बंद

यकीन मानिए कि आपकी खिड़की ही आपके कमरे को 30 फीसदी गर्म कर डालती है। अमेरिकी ऊर्जा विभाग इस बात की तस्दीक करता है और उसका कहना है किसी भी घर या कमरे में खिड़कियां सबसे ज्यादा गर्मी फैलाती हैं। आपको करना क्या है। बस इतना ही कि हर खिड़की को अच्छी तरह ढक कर उसके ऊपर सूती और हल्के शेड के पर्दे लगाने हैं।

एग्जॉस्ट का सही इस्तेमाल
घर में लगे एग्जॉस्ट का सही इस्तेमाल करना सीखिए। ये अंदर की गर्म हवा को बाहर फेंकते हैं और घर को ठंडा रखते हैं। रात को टेबल फेन को खिड़की की तरफ मुंह करके चला दीजिए, ये बाहर की ठंडी हवा को अंदर खींचेगा। किचन के एग्जॉस्ट को चलाकर रखिए ताकि गर्मी हवा के साथ साथ बाहर निकलती रहे।
छत पर चूने का लेप
अपने घर की छत पर बाजार से चूना लाकर लेप कर दें। जी हां पूरी छत पर। इसके लिए बाजार से चूना और फेविकोल ले आइए। चूने को किसी लोहे की बाल्टी में रात भर के लिए भिगोकर रख दीजिए। सुबह उसमें फेविकोल मिलाकर छत पर पोत दीजिए, ठीक वैसे जैसे दीवारों पर पुताई करते हैं। एक बार पुताई करने के बाद 24 घंटे के लिए छोड़ दीजिए और अगले दिन फिर एक बार इसी चूने से छत को पोत दीजिए। मोटा मोटा चूना जब छत पर लग जाएगा तो धूप छत को गर्म नहीं कर पाएगी औऱ छत ठंडी ठंडी कूल कूल रहेगी। इस उपाय से आपके कमरे के तापमान में छह से सात डिग्री का फर्क देखने को मिल जाएगा।

थर्माकोल की शीट
आप चाहें तो थर्माकोल की पूरी शीट को छत पर फैलाकर छत को धूप और गर्मी से बचा सकते हैं।

छत पर पानी डालते रहें
कमरे की छत पर छह बजे यानी सूरज छिपने के बाद पानी का छिड़काव करें। इससे छत की गर्मी बाहर निकलेगी और रात को जब पंखा (छत पर लगा) चलाएंगे तो ठंडी छत से गर्म नहीं बल्कि ठंडी हवा मिलेगी। कमरे की बॉलकनी और कमरे में ही ठंडक करने वाले पौधे लगा सकते हैं। शाम को बॉलकनी धो दीजिए।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *