एम्स की एथिक्स कमेटी ने अस्पताल में कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर ह्यूमन ट्रायल के लिए मंजूरी दी

दिल्ली एम्स की एथिक्स कमेटी ने अस्पताल को कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर ह्यूमन ट्रायल के लिए मंजूरी दे दी है। मंजूरी मिलने के बाद अस्पताल ने जनता से आग्रह किया कि अस्पताल को करोना वैक्सीन के ट्रायल के लिए लोगो की की आवश्यकता है। अस्पताल द्वारा यह खबर मिलते ही हजारों लोग ट्रायल में शामिल होने के लिए सामने आ गए है। कोविड-19 के एंटी वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल के लिए दिल्ली एम्स अस्पताल मे लोगो की भीड़ इकट्ठा हो गयी है। ट्रायल के लिए हजारों लोगो ने अपनी इच्छा जाहिर की है लेकिन फेज वन के इस ट्रायल में सिर्फ 100 लोगों को ही शामिल किया जाएगा, उम्मीद है कि अगले दो से तीन दिन में ट्रायल शुरू हो जाएगा। वॉलंटियर्स AIIMS को फोन, ईमेल और वॉट्सऐप के जरिए संपर्क कर रहे हैं।

 ट्रायल में शामिल होने वाले सभी की कोरोना जांच होगी, निगेटिव पाए जाने पर ही उन्हें ट्रायल में शामिल किया जाएगा। मतलब जिन्हें पहले से कोविड हुआ है या जो संक्रमित हैं उन्हें इसमें शामिल नहीं किया जाएगा।  डॉक्टर संजय ने कहा कि अगले दो से तीन दिन में इस ट्रायल को शुरू कर दिया जाए। और इस ट्रायल के रिजल्ट आने में समय लग सकता है, क्योंकि आईसीएमआर और बायोटेक द्वारा तैयार की गई कोविड-19 की यह वैक्सीन (Covaxin) की दो डोज शेड्यूल है। यानी हर किसी को दो बार वैक्सिनेशन किया जाएगा। इसके लिए 14 दिन का गैप है। इसके बाद ही यह पता लगेगा कि वैक्सीन का ह्यूमन पर किस प्रकार रिजल्ट आता है

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *