कार्यक्रम के दौरान विधायक दीवान सिंह बिष्ट बोल गए कि कहा जाता है कि उत्तराखंड में जो भी शिक्षा मंत्री बना वह चुनाव नहीं जीत पाया। हालांकि उन्होंने फिर अपनी बात को संभाल भी लिया। इसके बाद अपने संबोधन में शिक्षा मंत्री ने कहा कि चुनाव जीते या न जीते इससे फर्क नहीं पड़ता है। यह राजनीति का हिस्सा है। जो पहले शिक्षा मंत्री थे उनके बाद भी प्रदेश व शिक्षा विभाग चला है। शिक्षा मंत्री हारे या जीते लेकिन शिक्षा विभाग जीतना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोविड की वजह से बच्चे स्कूल नहीं आ रहे हैं। ऐसे में उन बच्चों को स्कूलों में प्रवेश लेने के लिए वेबसाइट बनाई है। वेबसाइट का लिंक भी आ गया है।