बजट भारत को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम; स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय कुलपति

स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. विजय धस्माना ने कहा कि बजट भारत को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम है। देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मुख्य पहलुओं को मध्यनजर रखते हुए यह बजट प्रस्तुत किया गया है। इसमें स्वस्थ, भौतिक, वित्तीय एवं आधिकारिक संरचना, समावेशी विकास, मानव संसाधन का पुनर्जीवन, नवाचार व अनुसंधान, विकास व कम से कम सरकारी हस्तक्षेप पर ध्यान दिया गया है। कहते हैं पहला सुख निरोगी काया, दूसरा सुख जेब में हो माया। यदि शरीर रोगी है तो आप धन कैसे कमाएंगे। कोविड संकट के बाद यह साफ है कि सरकार भी यह समझ चुकी है कि देश के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है आम आदमी का स्वस्थ होना। कोरोना संकट के इस दौर में पेश किया गया यह बजट स्वास्थ्य क्षेत्र पर फोकस रहा। सरकार ने इस बजट में आम आदमी की सेहत का खास ख्याल रखा है। 94 हजार करोड़ से 2.23 लाख करोड़ रुपये की बढ़ोतरी की है। स्वास्थ्य बजट में यह करीब 137 फीसद का इजाफा होगा। कोरोना संकट जैसी महामारी से निपटने में यह बजट मददगार साबित होगा।

64 हजार करोड़ रुपये का प्रविधान प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के लिए किया गया है। इस योजना के अंतर्गत आने वाले छह सालों में 17, 788 ग्रामीण व 11, 024 शहरी स्वास्थ्य केंद्रों का सुदृढ़ीकरण, 11 राज्यों में पब्लिक हैल्थ लैब की स्थापना, 602 क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल स्थापित करना, 12 केंद्रीय संस्थानों की स्थापना किए जाने का प्रविधान किया गया है।दून विश्वविद्यालय प्रबंधशास्त्र विभाग के अध्यक्ष प्रो. एचसी पुरोहित ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से प्रस्तुत बजट विनिर्माण के क्षेत्र में देश को आत्मनिर्भर बनाने में सफल होगा। कौशल विकास पर जोर देने से रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होंगे। बजट में संरचनात्मक/ ढांचागत विकास पर विशेष जोर दिया गया है जो किसानों के उत्पाद को उचित दाम पर बाजार तक उपलब्ध कराने में सहायक होगा। ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार सृजन के लिए भी सहायक होगा। कोरोना महामारी के बाद का यह पहला बजट स्वास्थ्य सेवा को प्रोत्साहित करने वाला है। साथ ही शिक्षा जैसे बुनियादी पहलू पर भी ध्यान दिया गया है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *