कोरोना संक्रमण के कारण सरकारी दफ्तरों के लिए गाइड-लाइन जारी; दफ्तरों में भीड़ को नियंत्रित करना चुनौती

बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण राज्य सरकार ने सरकारी दफ्तरों के लिए गाइड-लाइन जारी तो कर दी, लेकिन फिलहाल दून में जनता से जुड़े दफ्तरों में भीड़ को नियंत्रित करना चुनौती बना हुआ है। कलक्ट्रेट हो या नगर निगम या फिर तहसील या आरटीओ। हर कार्यालय में कोरोना संक्रमण रोकने को जो इंतजाम किए गए हैं, वे महज दिखावा लग रहे। हालांकि, नगर निगम में शुक्रवार सुबह से जरूर सख्ती दिखी, लेकिन आरटीओ व तहसील में भीड़ का प्रवेश बेरोकटोक जारी रहा। आरटीओ दफ्तर में कार्य सीमित कर दिए गए हैं, लेकिन इसके बावजूद भीड़ के चलते व्यवस्था नहीं बन पा रही। शुक्रवार को दैनिक जागरण की टीम ने आमजन से जुड़े सरकारी कार्यालयों की स्थिति जानी।

जिलाधिकारी कार्यालय में सुबह साढ़े दस बजे से जन सुनवाई शुरू हुई। जन सुनवाई में कम ही लोग पहुंचे थे। कार्यालय आने वाले व्यक्तियों को सैनिटाइज करने के बाद ही कार्यालय में प्रवेश करने दिया गया। जन सुनवाई में जिलाधिकारी डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने दो व्यक्तियों की समस्या सुनी और अचानक शासन में बैठक की सूचना पर वह अपर जिलाधिकारी जीसी गुणवंत को जन सुनवाई की जिम्मेदारी देकर चले गए। कार्यालय में आमजन का कम आना जाना रहा। हालांकि, पुलिस व प्रशासनिक कर्मचारी कार्यालय आते रहे।

कोरोना संक्रमण को देखते हुए शुक्रवार सुबह से नगर निगम में आमजन के प्रवेश को लेकर सख्ती बढ़ा दी गई। नगर आयुक्त विनय शंकर पांडेय ने सुबह दफ्तर पहुंचते ही अधिकारियों की बैठक बुलाई व कोरोना गाइड-लाइन का शत फीसद अनुपालन का आदेश दिया। निगम में बैरियर लगा गाड़ि‍यों को रोका जा रहा और आने वालों से दफ्तर आने का कारण पूछा जा रहा। गेट पर आधा दर्जन कर्मियों को तैनात किया गया है और मास्क के बिना प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया। गेट पर ही मास्क दिए जा रहे व हर आने वाले का तापमान जांच कर हाथों को सैनिटाइज कराकर भीतर जाने दिया जा रहा है। नगर आयुक्त ने खुद दफ्तर के परिसर में निरीक्षण कर स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान नगर आयुक्त कार्यालय के बाहर लगी हैंड सैनिटाइजर मशीन दुरुस्त मिली, लेकिन महापौर कक्ष के बाहर मशीन खराब मिली। आयुक्त ने तत्काल मशीन दुरुस्त कराने का आदेश दिया। जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र लेने के लिए जुट रही भीड़ को कम करने के लिए नगर आयुक्त ने दोबारा टोकन सिस्टम लागू करने के आदेश दिए हैं। टोकन की प्रतिदिन संख्या निर्धारित होगी। आगंतुकों को टोकन देकर टाउन हाल में बैठाया जाएगा और उसे बारी आने पर ही संबंधित अनुभाग में जाने दिया जाएगा।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *