टोल प्लाजा में विवाद सिटी बस संचालक भी बसों का संचालन बंद करने की चेतावनी दी

हरिद्वार राजमार्ग पर स्थित लच्छीवाला टोल प्लाजा को लेकर उठा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। समस्त स्थानीय वाहनों को छूट की मांग कर रहे ग्रामीण पहले ही आंदोलन कर रहे, वहीं सिटी बस संचालक भी बसों का संचालन बंद करने की चेतावनी दे रहे। इस संबंध में सिटी बस महासंघ ने देहरादून डोईवाला-जौलीग्रांट मार्ग की 50 बसों का संचालन सोमवार से बंद करने की चेतावनी दी है। बस संचालकों ने आरटीओ को इस संबंध में पत्र सौंपा है।सिटी बस सेवा महासंघ के अध्यक्ष विजय वर्धन डंडरियाल के साथ डोईवाला मार्ग के बस संचालकों ने आरटीओ दिनेश चंद्र पठोई से मुलाकात की। बस संचालकों ने बताया कि डीजल की कीमत काफी बढ़ चुकी है, जबकि वे पुरानी डीजल कीमत पर ही किराया ले रहे हैं। संचालकों ने कहा कि रोडवेज खुद किराया बढ़ा लेता है पर निजी बस संचालकों को यह अधिकार नहीं। ऐसे में वह टोल की राशि देकर डोईवाला मार्ग पर बसों का संचालन नहीं कर सकते। इस दौरान बस संचालकों ने कहा कि तीन दिन तक उनसे टोल नहीं लिया जा रहा, ऐसे में वह तभी तक बस संचालक करेंगे। इसके बाद सोमवार से बसों का संचालन बंद कर दिया जाएगा। इस मार्ग पर 50 सिटी बसों का संचालन होता है। बस संचालकों द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अफसरों से भी मुलाकात की गई।

एसडीएम के निर्देश के बावजूद कंपनी ने टोल प्लाजा पर स्थानीय वाहनों से वसूली बंद नहीं की है। एसडीएम ने एक हफ्ते तक स्थानीय वाहनों से वसूली स्थगित करने के निर्देश दिए थे, लेकिन शुक्रवार को भी टोल प्लाजा पर वसूली होती रही। स्थानीय नंबर के वाहन चालकों और टोल प्लाजा कर्मियों के बीच इसे लेकर झड़प होती रही। कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष एवं बालावाला निवासी धनवीर सिंह राणा ने बताया कि 20 किमी के क्षेत्र में रहने वाले स्थानीय जन से एक हफ्ते तक टोल न लेने का निर्णय लिया गया था, लेकिन टोल कंपनी के कर्मी निर्देश नहीं मान रहे। उन्होंने बताया कि जो क्षेत्रीय लोग शुक्रवार को टोल प्लाजा से गुजरे, उन सभी ने अपना आधार कार्ड भी दिखाया, लेकिन कर्मचारी नहीं मानें।

बहादराबाद में बने टोल प्लाजा पर तीसरे दिन भी हंगामा हुआ। स्थानीय ग्रामीणों के बाद अब ट्रांसपोर्ट व्यवसायी भी छूट देने की मांग कर रहे हैं। इसे लेकर शुक्रवार को हाईवे पर उतरे व्यापारियों की टोल प्लाजा पर तैनात कर्मचारियों से नोकझोंक भी हुई। शनिवार को ट्रांसपोर्ट व्यापारियों ने टोल प्लाजा पर विरोध प्रदर्शन की चेतावनी दी है। शुक्रवार को ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस उत्तराखंड के बैनर तले ट्रांसपोर्ट व्यवसायी टोल प्लाजा पहुंचे। इस दौरान उन्होंने टोल टैक्स में 50 फीसद छूट की मांग की। साथ ही कई राज्यों में इस तरह की व्यवस्था लागू होने का हवाला भी दिया। ट्रांसपोर्ट यूनियन के प्रदेश महासचिव आदेश सैनी ने कहा कि नेशनल हाईवे के नियमों के अनुसार व्यावसायिक वाहनों को पचास प्रतिशत की छूट देने का प्रविधान है। टोल वसूल रही कंपनी मनमानी कर रही है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *