जिलाधिकारी ने किया फलदार पौधों का रोपण व काश्तकारों को कृषि यंत्रों का भी वितरण

जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव ने विकासखण्ड चम्बा के अंतर्गत ग्राम बुडोगी व जड़धार गांव पहुंचकर नेपियर घास, अन्य चार पत्ती व फलदार पौधों का रोपण व काश्तकारों को कृषि यंत्रों का भी वितरण किया।

जनपद में जैविक खेती को बढ़ावा देने व काश्तकारों की आर्थिकी में वृद्धि हेतु जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव ने मुख्य कृषि अधिकारी को गत वर्ष नेपियर घास की नर्सरी तैयार करने के निर्देश दिए थे। जिसके तहत नर्सरी में तैयार नेपियर घास का सभी 9 विकासखंडों में कम से कम एक हैक्टेयर भूमि (खेत की मेड़ व बंजर भूमि) पर रोपण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
गुरुवार को जिलाधिकारी ने जिला मुख्यालय के नजदीक बुडोगी गांव में कृषि विभाग द्वारा आयोजित पौध रोपण एवं कृषि यंत्र वितरण कार्यक्रम में शिरकत की। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने टिश्यू कल्चर से तैयार नेपियर घास, अंजीर, सहतूत, बामोरा की पौध का रोपण किया। इसके उपरांत जिलाधिकारी ने गांव के काश्तकारों को कृषि यंत्रों का वितरण किया।
बुडोगी में 1960 में बने 2 लाख 60 हजार लीटर क्षमता वाले पानी के पुराने टेंक के झिर्णोधार कराये जाने पर ग्राम वासियों ने जिलाधिकारी की भूरी-भूरी प्रशंसा की। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को अपने बीच पाकर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि बुडोगी गांव जिला मुख्यालय के इतना पास होने के बावजूद यहां पर आज तक कोई जिलाधिकारी नहीं आया है। जिलाधिकारी ने कहा कि नेपियर घास पशुओं के लिए अत्यधिक पौष्टिक आहार है जिसमें लगभग 18% प्रोटीन पाई जाती है। उन्होंने कहा कि पहाड़ों में खेतों की मेड़ो व बंजर भूमि पर नेपियर घर के रोपण से एक ओर जहां भूमि का उपयोग हो सकेगा वहीं इसकी पौष्टिकता से दुग्ध उत्पादन भी बढ़ेगा। इसके साथ ही इसके वृहत स्तर पर रोपण से महिलाओं को दूर जंगलो में चार पत्ती के ढुलान व जंगली जानवरों से उत्पन्न खतरों से को भी टाला जा सकता है। उन्होंने कहा कि नेपियर घास की पौष्टिकता से दुग्ध उत्पादन में बढ़ोतरी होने से काश्तकारों की आर्थिकी में वृद्धि होगी।
इसके उपरांत जिलाधिकारी ने जड़धार गांव पहुंचकर नेपियर घास सहित विभिन्न प्रजाति के चारा पत्ती व फलदार पौधो का रोपण किया। जड़धार गांव के काश्तकारों की मांग पर कृषि भूमि की जंगली जानवरों से सुरक्षा हेतु घेरबाड, स्थानीय फलदार प्रजाति के वृक्षों को बढ़ावा दिए जाने व हेंवल नदी में 5 चेकडेम निर्माण को लेकर जिलाधिकारी ने मुख्य कृषि अधिकारी को प्राथमिकता के आधार पर कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।
इस अवसर पर मुख्य कृषि अधिकारी जेपी तिवारी, बीडीओ धर्म सिंह रावत, ग्राम प्रधान बुडोगी सुलोचना चौहान, जिला पंचायत सदस्य हितेश चौहान, बीज बचाओ आंदोलन के प्रणेता विजय सिंह जड़धारी, दर्मियान सिंह नेगी, ग्राम प्रधान जड़धार गांव प्रीति जड़धारी, प्रधान इंड़वाल गांव विजय सिंह जड़धारी सहित गांव ग्रामवासी उपस्थित थे।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *