महिलाओं को हरसंभव सुविधाएं देने के होंगे प्रयास : सीएम त्रिवेंद्र रावत

पर्वतीय क्षेत्रों की विषम भौगोलिक परिस्थितियों में यहां की महिलाओं का जीवन काफी चुनौती पूर्ण है। ऐसे में उनके बोझ को कम किया जा सके। इसके लिए सरकार गंभीर है। जगह जगह चारा केंद्र खोलने, गांवों को सड़कों से जोडऩे और चिकित्सा सेवाओं को मजबूत करने के लिए सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है।

यह बात अल्मोड़ा पहुंचे सीएम त्रिवेंद्र रावत ने अल्मोड़ा सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। उन्होंने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में महिलाओं का जीवन पहाड़ जैसा है। मवेशियों के लिए चारे की व्यवस्था के लिए जंगल जाना, पांव फिसलने से अकाल मौत जैसी समस्याएं आम हो गई हैं। इसलिए अब सरकार जगह जगह चारा केंद्रों की स्थापना के साथ उन्हें बेहतर चिकित्सा देने का प्रयास कर रही है। सीएम ने कहा कि सरकार शीघ्र प्रदेश में तीन और नए मेडिकल कालेज खोलने जा रही है। 132 नई एंबुलेंस प्रदेश को मिलने वाली है। जिससे रोगियों को अस्पताल पहुंचाने में मदद मिलेगी। मार्च तक सरकार 720 और नए चिकित्सकों की तैनाती करने जा रही है। रावत ने कहा कि पिछले चार सालों में पीएमजीएसवाई के तहत सैकड़ों सड़कों का निर्माण कराया गया जबकि कई सड़के अभी और प्रस्तावित हैं। 121 पुलों के लिए केंद्र सरकार से बजट प्राप्त हुआ है। ढाई हजार नर्सों की भर्ती प्रक्रिया में सरकार पूरी पारदर्शिता बरत रही है। गांवों में स्वच्छ पेयजल मुहैया कराने के लिए तीन चरणों में हर घर नल योजना की शुरूआत की गई है। इसके अलावा भी हर व्यक्ति तक विकास योजनाओं का लाभ पहुंच सके। इसके लिए सरकार गंभीरता से कार्य कर रही है। सीएम ने कहा कि प्रदेश में लागू जिला विकास प्राधिकरण को समाप्त किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसका काफी समय से विरोध जनता द्वारा किया जा रहा है। जनभावनाओं को देखते हुए अब सरकार इसे समाप्त करने जा रही है और शीघ्र ही इसका शासनादेश भी जारी कर दिया जाएगा।
इस मौके पर सांसद अजय टम्टा, उच्च शिक्षा धन सिंह, मंत्री बाल विकास मंत्री रेखा आर्या, विस उपाध्यक्ष रघुनाथ चौहान, कैलाश शर्मा, ललित लटवाल, रवि रौतेला आदि मौजूद रहे।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *