स्वर्ण व्यापारी की पत्नी को उपचार के नाम पर सम्मोहित कर लाखों रुपए के जेवर और नकदी ठगने वाले फर्जी बाबा गिरफ्तार

स्वर्ण व्यापारी की पत्नी को उपचार के नाम पर सम्मोहित कर लाखों रुपए के जेवर और नकदी ठगने वाले फर्जी बाबा की निशानदेही पर कोतवाली पुलिस ने उसके फ्लैट से करीब 70 लाख रुपए के जेवर बरामद किए हैं। गिरफ्तारी के वक्त उससे करीब नौ लाख रुपए के जेवर बरामद किए गए थे। वहीं, पुलिस के अनुसार इस मामले में आरोपित दुकान स्वामी असीम फारुकी को भी गिरफ्तार किया गया है। बता दें, आज फर्जी बाबा की पुलिस कस्टडी रिमांड पूरा हो रही है।कोतवाली पुलिस के मुताबिक बीती 10 जुलाई को कोतवाली ऋषिकेश में शिकायतकर्ता हितेंद्र सिंह पंवार गढ़वाल ज्वेलर्स निवासी 45 देहरादून रोड ऋषिकेश की ओर से एक प्रार्थना पत्र दिया। उन्होंने कहा कि पत्नी को कोई मानसिक समस्या है, जिसका फायदा उठाकर महेद्र रोड उर्फ योगी प्रियव्रत अनिमेश ने आध्यात्मिक रूप से उपचार के बहाने कई बार अपने निवास में बुलाकर खाने की दवाइयां दी। उनकी पत्नी को सम्मोहित कर अलग-अलग तिथियों में दिसंबर 2019 से अब तक एक रुद्राक्ष की माला, सोने का ब्रेसलेट, रुद्राक्ष का ब्रेसलेट, सोने की माला, सोने की चार अंगूठी, तुलसी की माला और कुछ रुपए नगद भी लिए गए हैं।

दो जुलाई 2021 को दुकान का सामान मिलाने पर इस बात की जानकारी हुई। उनकी शिकायत पर योगी प्रियव्रत अनिमेश उर्फ महेंद्र रोड उर्फ रोबिन खलीफा पुत्र सुल्तान सिंह निवासी आजाद नगर, थाना माडल टाउन पानीपत हरियाणा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मामले में कोतवाली प्रभारी निरीक्षक शिशुपाल सिंह नेगी के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया। अगले रोज फर्जी बाबा की नेचर विला लाल तप्पड़ स्थित फ्लैट से गिरफ्तारी की गई थी। पुलिस ने फर्जी बाबा को न्यायालय में पेश किया था, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया था। पुलिस ने न्यायालय में कस्टडी रिमांड के लिए आवेदन किया था। इस पर अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने 16 से 18 जुलाई तक इस फर्जी बाबा को पुलिस रिमांड पर देने के आदेश जारी किए थे।

रिमांड पर लिए गए फर्जी बाबा से पुलिस की टीम ने गहन पूछताछ की इस बाबा के दिल्ली पानीपत करनाल आदि स्थानों पर भी अलग-अलग टीम रवाना की गई थी। पुलिस अधीक्षक देहात स्वतंत्र कुमार सिंह ने बताया कि फर्जी बाबा की निशानदेही पर व्यापारी की पत्नी से ठगे गए करीब 70 लाख रुपए कीमत के जेवर बरामद कर लिए गए हैं। बीती शनिवार की शाम को आरोपित की निशानदेही पर नेचर विला स्थित उसके किराए के फ्लैट से माल की बरामदगी की गई है। एसपी देहात ने दावा किया कि व्यापारी की पत्नी से ठगे गए जेवर की शत-प्रतिशत बरामद की कर ली गई है।पुलिस उपाधीक्षक डीसी ढौंडियाल ने बताया कि व्यापारी की पत्नी से फर्जी बाबा ने करीब 27 लाख रुपये नकद लिए थे। जांच के बाद पता चला है कि यह पैसा उसने एक ऑडी कार खरीदने में खर्च कर दिया। यह कार उसने अपने दोस्त के नाम पर खरीदी है, जिसकी अभी बरामदगी नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि इस मामले में अभी किसी अन्य व्यक्ति की संलिप्तता या फिर बाबा के किसी अन्य व्यक्तियों के साथ संबंधों की बात सामने नहीं आई है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *