हरिद्वार महाकुंभ और चार धाम यात्रा के दौरान विद्युत आपूर्ति सुचारू के लिए ऊर्जा निगम को आदेश जारी

शासन ने हरिद्वार महाकुंभ और चार धाम यात्रा के दौरान विद्युत आपूर्ति सुचारू रखने के लिए मंगलवार को अलग-अलग आदेश ऊर्जा निगम को जारी किए हैं। ऊर्जा सचिव राधिका झा ने ऊर्जा निगम के प्रबंध निदेशक को जारी आदेश में कहा कि महाकुंभ की अवधि में हरिद्वार में बिजली की निर्बाध आपूर्ति होनी चाहिए। कुंभ क्षेत्र में दुर्घटनामुक्त विद्युत आपूर्ति के लिए मुख्य अभियंता वितरण हरिद्वार क्षेत्र को नोडल अधिकारी नामित किया गया है।

मेला अवधि में अधीक्षण अभियंता विद्युत वितरण मंडल हरिद्वार व उनके अधीनस्थ अधिकारी को नोडल अधिकारी के नियंत्रण में काम करने के आदेश दिए गए हैं। मेला अवधि में विद्युत आपूर्ति व्यवस्था के निरीक्षण व पर्यवेक्षण को अधीक्षण अभियंता नियमित रूप से हरिद्वार में प्रवास करेंगे। निगम के निदेशक परिचालन अथवा निदेशक परियोजना हफ्ते में दो बार मेला क्षेत्र की विद्युत व्यवस्थाओं की मानीटरिंग करेंगे।

इसीतरह चार धाम यात्रा में विद्युत आपूर्ति और पथ प्रकाश व्यवस्था को गुणवत्ता के साथ सुचारू रखने के आदेश ऊर्जा निगम के प्रबंध निदेशक को दिए गए हैं। ऊर्जा सचिव ने बताया कि गढ़वाल क्षेत्र के मुख्य अभियंता विद्युत वितरण को 31 मार्च तक पांचों धामों का निरीक्षण कर निर्बाध विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा गया है। इसके लिए जरूरी कार्यों को 30 अप्रैल तक पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं। गोविंद घाट से हेमकुंड साहिब तक पथ प्रकाश की व्यवस्था के लिए चमोली के जिलाधिकारी एवं उरेडा के अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिए गए हैं। चार धाम यात्रा के लिए विभाग की ओर से मुख्य अभियंता गढ़वाल नोडल अधिकारी नामित किए गए हैं।

ऊर्जा सचिव राधिका झा ने अन्य आदेश में ऊर्जा निगम के प्रबंध निदेशक को प्रदेश में सुरक्षित विद्युत आपूर्ति एवं राजस्व वसूली के लक्ष्य के अनुरूप राजस्व संग्रहण करने के निर्देश प्रबंध निदेशक को दिए हैं। मैदानी क्षेत्रों में ब्रेकडाउन की स्थिति में संबंधित अधिशासी अभियंता एवं उपखंड अधिकारी को 20 मिनट में मौका मुआयना करना होगा। ब्रेकडाउन को शीघ्र दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए हैं।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *