ओलावृष्टि से फसलों को हुआ भारी नुकसान

जौनपुर विकास खंड के सकलाना पट्टी के उनियालगांव और चंबा-मसूरी फलपट्टी में बुधवार दोपहर बाद हुई तेज बारिश और ओलावृष्टि के कारण किसानों की फसलों को भारी नुकसान हुआ है। प्रभावित किसानों से शासन-प्रशासन से फसलों की क्षतिपूर्ति देने की मांग की। अतिवृष्टि से गेहूं की फसल को सबसे अधिक नुकसान पहुंचा है।

बुधवार को हुई ओलावृष्टि और बारिश से उनियालगांव, मिंगरवाल, भमोरिखाल, टरू, टुटुईचक, कुमाऊं चली आदि गांव में किसानों की आलू, गेंहू, मटर, जौ, गोभी, सेब, आडू, खुमानी, पुलम समेत बागवानी से संबंधित पेड़ और पौधों को भारी क्षति पहुंची है। ग्रामीण विपिन नेगी ने बताया कि अचानक हुई बारिश के कारण ग्रामीणों को खासा नुकसान हुआ है। ग्रामीणों की बेमौसमी सब्जियों, फलों, पौधों को क्षतिग्रस्त पहुंची है। उन्होंने शासन-प्रशासन से प्रभावित किसानों को क्षतिपूर्ति का भुगतान करने की मांग की है। पूर्व जिला पंचायत सदस्य अखिलेश उनियाल ने बताया कि बारिश से गदेरे उफान पर आ गए है। उनियालगांव में जगह-जगह खेतों में मलबा घुस गया है। अतिवृष्टि से गेेहूं की फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गई है। उन्होंने शासन-प्रशासन से क्षति का सर्वे कर जल्द किसानों को मुआवजा देने की मांग की है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *