कोरोना संक्रमण के मामले फिर बढऩे से असर मसूरी के पर्यटन व्यवसाय पर भी

देश के विभिन्न राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले फिर बढऩे से उपजे हालात का असर मसूरी के पर्यटन व्यवसाय पर भी पड़ा है। एक सप्ताह के भीतर होटलों की 30 से 50 फीसद बुकिंग रद हो गई है। इससे पर्यटन व्यापारी खासे चिंतित हैं। वहीं, इंटरनेट मीडिया पर मसूरी में लॉकडाउन की भ्रामक खबरों को लेकर भी पर्यटन व्यापारियों ने नाराजगी जताई है। पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, हिमाचल, राजस्थान समेत विभिन्न राज्यों के 70 जिलों में एक मार्च के बाद कोरोना के मामले 150 फीसद से अधिक बढ़े हैं। सुकून की बात यह है कि उत्तराखंड में अब तक ऐसा नहीं देखा गया है। लेकिन, अन्य राज्यों में कोरोना के बढ़ते प्रसार से प्रदेश का पर्यटन व्यवसाय जरूर प्रभावित होता नजर आ रहा है। मसूरी होटल एसोसिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष राम कुमार गोयल ने बताया कि बीते सप्ताह 30 से 50 प्रतिशत बुकिंग रद हुई है। इसके साथ ही पर्यटकों की आमद में भी कमी आई है। अग्रिम बुकिंग के लिए पूछताछ भी कम हो गई है।

उनका कहना है कि इसका असर अगले माह भी पड़ेगा। उन्होंने देश में कोरोना के बढ़ते प्रसार पर चिंता जताते हुए सभी से अनिवार्य रूप से फेस मास्क का इस्तेमाल करने और शारीरिक दूरी के नियम का पालन करने की अपील की है।  वहीं, मसूरी ट्रेडर्स एसोसिशन के अध्यक्ष रजत अग्रवाल ने कहा कि पर्यटन व्यवसाय अभी भी कोरोना की मार से उबर नहीं पाया है। उस पर देश के विभिन्न राज्यों में कोरोना के मामले फिर बढऩे से हालात चिंताजनक हो गए हैैं। हमें कोरोना से बचाव के लिए नियमों का पालन करने के साथ अफवाहों से बचना होगा। उत्तराखंड होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप साहनी ने कहा कि कोविड गाइडलाइन का सख्ती से पालन होना चाहिए। इंटरनेट मीडिया पर मसूरी में लॉकडाउन की भ्रामक खबर पर नाराजगी जताते हुए कहा कि पर्यटन पर इसका बुरा असर पड़ा है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *