बदमाशों की गोली का शिकार हुए पत्रकार विक्रम जोशी की इलाज के दौरान मौत

विजयनगर थाना क्षेत्र की माता कॉलोनी में सोमवार देर रात एक अखबार के पत्रकार विक्रम जोशी को बदमाशों ने उनकी बेटियों के सामने ही कनपटी से तमंचा सटाकर गोली मार दी थी और फरार हो गए थे। जिसके बाद विक्रम जोशी को शहर के यशोदा अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जिसके बाद उनका शहर के यशोदा अस्पताल में इलाज चल रहा था। अस्पताल में पत्रकार की हालत लगातार चिंताजनक बनी हुई थी, उन्हें आइसीयू में रखा गया था। लेकिन इलाज के चलते बुधवार सुबह विक्रम जोशी का निधन हो गया। विक्रम जोशी के निधन की सूचना आई तो पुलिस प्रशासन में भी हड़कंप मच गया। इससे पहले विक्रम जोशी ने पहले अपनी भांजी के साथ छेड़छाड़ का विरोध किया था, और इस मामले में उन्होंने पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई थी, जिसके बाद यह घटना घटी। पत्रकार विक्रम जोशी की मौत की खबर आते ही अस्पताल में बड़ी संख्या में परिजन व मीडियाकर्मी जुट गए। परिजनों ने आरोपितों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गाजियाबाद में पत्रकार विक्रम जोशी की मौत पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए उनके परिवार के लिए 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता, पत्नी को नौकरी और बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देने का निर्देश दिया है। मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपित समेत नौ लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। लापरवाही बरतने पर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने प्रताप विहार चौकी प्रभारी राघवेंद्र सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है और सीओ सिटी प्रथम राकेश मिश्रा को विभागीय जांच सौंपी गई है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *