कोठारी पर्वतीय विकास समिति ने खिर्सू में महिला-पुरूषों को दिया हर्बल चाय बनाने का प्रशिक्षण

पौड़ी (कोटद्वार), कोठारी पर्वतीय विकास समिति के तत्वाधान में खिर्सू ब्लाक में चार दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में हर्बल चाय बनाने का प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षक सुनील दत्त कोठारी ने 88 प्रकार की जंगली जड़ी बूटियों की विस्तृत जानकारी दी। साथ ही प्रयोगात्मक रूप में पैकिंग भंडारण और बाजारीकरण के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आज आवश्यकता है प्रत्येक गांव में इस प्रकार प्रशिक्षण शिविर के आयोजन की, ताकि लोग प्रशिक्षित होकर स्वरोजगार को अपना सकें। टी कॉफी एसोसिएशन मुंबई एवं एचपीएमएफ मुंबई के सहयोग से वह इस मुहिम को आगे बढ़ा रहे है।
प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि ग्राम प्रधान तोलियो, खिर्सू के प्रधान श्रीमती मनीषा बहुगुणा ने संयुक्त रूप से द्वीप प्रज्जवलित कर किया। कोठारी पर्वतीय विकास समिति के सुनील दत्त कोठारी हर्बल चाय विशेषज्ञ द्वारा 18 से 21 फरवरी तक दिया गया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्देश्य स्थानीय रूप से पाई जाने वाली वनस्पति मुख्यत: कांडली (बिच्छू बूटी) के पत्तों का उपयोग करके एवं उत्तम मिश्रण के साथ हर्बल चाय बनाने का प्रशिक्षण है। चार दिवसीय प्रशिक्षण में लगभग 110 महिलाओं एवं पुरुषों ने प्रशिक्षण लिया। सुनील दत्त कोठारी का प्रयास वनस्पति संरक्षण एवं उपयोगिता को आधार बनाकर लोगों की आर्थिकी को मजबूत व बढ़ावा देना है। वह वित्तीय वर्ष 2021-2022 में 11 हजार लोगों को प्रशिक्षण देने की मुहिम में लगे हुए हैं। सुनील दत्त कोठारी ने बताया कि इस मुहिम से जहां पूर्वजों का ज्ञान नष्ट होने से बचेगा, वहीं उत्पादन के रूप में प्रस्तुत करके स्थानीय लोगों की आजीविका में वृद्धि होगी।

उत्तराखण्ड में अनेक प्रकार के प्राकृतिक संसाधन उपलब्ध हैं, जो प्राय: प्रकृति द्वारा हमें मूलभूत सुविधाओं के रूप में उपलब्ध कराए गए हैं, आज समय की मांग एवं उनकी क्षेत्रीय उपलब्धता को आधार लेकर उनको उत्पाद के रूप में संसार के आगे प्रस्तुत किया जा सकता है, ताकि इस प्रकार के संसाधनों से ग्रामीण परिवेश में आजीविका वर्धन के साथ-साथ उत्तराखण्ड को ग्रामीण प्रवेश में सुदृढ़ करना भी है। पौड़ी जिले के खिूर्स ब्लॉक निवासी ओम बहुगुणा पर्यटन जगत में एवं कृषि को आधार लेकर पर्यटन व्यवसाय में नई संभावनाओं को तलाशने का कार्य कर रहे है। ओम बहुगुणा ने विगत 6 वर्षों से कई बंजर खेतों को आबाद करके समाज के सम्मुख उदाहरण प्रस्तुत किया है। उन्हें जागो उत्तराखंड संस्था की ओर से जन प्रेरणा सम्मान 2021 से सम्मानित किया गया है।

ओम बहुगुणा विगत छ: सालों से इस कार्य में लगे हुए हैं। वह एक तरफ बंजर खेतों को आबाद के करने के साथ-साथ, होमस्टे वाइट पिक नाम से हिमालय की गोद में लोगों को आश्रय एवं स्थानीय भोजन, रहन-सहन एवं रीति-रिवाजों को बढ़ावा दे रहे हैं। ओम बहुगुणा का कहना है कि हर कार्य में मेहनत जरूर है, परंतु हर कार्य को व्यवस्थित किया जा सकता है। प्रस्तुतीकरण से व्यवसाय का जन्म भी हो जाता है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में उद्यान विशेषज्ञ अधिकारी ब्लॉक खिर्सू अंकित टम्टा, आनंद सिंह, विजय सिंह, पुष्पा देवी, सुनीता देवी, सरोजनी देवी, नीलम देवी, चेता देवी, मीरा देवी सहित अन्य महिलाएं उपस्थित रही।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *