गैस कंपनियों की ओर से हर महीने घरेलू गैस सिलिंडर के दाम बढते जा रहे है बढ़ी नही

गैस कंपनियों की ओर से हर महीने घरेलू गैस सिलिंडर के दाम बढ़ाए जा रहे हैं, लेकिन सरकार की ओर से दी जाने वाली सब्सिडी नहीं बढ़ रही। पिछले दो महीनों में ही घरेलू गैस सिलिंडर के दाम 175 रुपये बढ़ गए हैं, लेकिन सब्सिडी 16.57 रुपये पर अटकी है। दाम इतना बढ़ने के बाद भी सब्सिडी क्यों नहीं बढ़ रही, इसका जवाब न तो गैस एजेंसी संचालकों के पास है और न ही अधिकारियों के पास। सबका यही कहना है कि इसका अधिकार केंद्र सरकार के पास होता है, वहीं से तय होता है कि सब्सिडी कितनी दी जाएगी।

सिलिंडर लेने के बाद ही आम उपभोक्ता अपनी सब्सिडी आने का इंतजार करने लगते हैं। साल 2015 तक करीब 900 रुपये के सिलिंडर पर साढ़े 500 रुपये तक की सब्सिडी मिलती थी। मार्च 2020 में भी 876 रुपये के दाम पर सवा 300 रुपये तक सब्सिडी उपभोक्ताओं के खाते में आ रही थी। लॉकडाउन के दौरान घरेलू गैस के दाम 582 रुपये के आस-पास बने रहे। हालांकि, अनलॉक शुरू होने के बाद से लगातार घरेलू गैस सिलिंडर के दाम तो बढ़े, लेकिन सब्सिडी वहीं अटकी रही। जनवरी में गैस कंपनियों ने घरेलू गैस सिलिंडर के दाम 100 रुपये बढ़ाए। फरवरी में भी दाम 75 रुपये बढ़ाकर 788.50 रुपये कर दिए।

चकराता रोड निवासी संगीता यादव ने कहा कि आम लोग की जेब हर तरफ से काटी जा रही है। पेट्रोल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। अब सिलेंडर इतना महंगा होने के बाद भी सब्सिडी 16 रुपये दी जा रही है।ऐसे भी कई उपभोक्ता हैं, जिनके खाते में सब्सिडी पहुंच ही नहीं रही हैं। हालांकि, पूर्ण लॉकडाउन के बीच दो महीने तक किसी भी उपभोक्ता को सब्सिडी नहीं मिली, लेकिन अब जब 16.57 रुपये सब्सिडी सरकार की ओर से जारी की जा रही है, तब भी कई उपभोक्ताओं को इसका लाभ ही नहीं मिल रहा। चुग गैस एजेंसी संचालक वीरेश मित्तल ने बताया कि हर दिन कई उपभोक्ता यह शिकायत लेकर एजेंसी पहुंच रहे हैं। इनमें कई उपभोक्ता ऐसे हैं, जिन्होंने बैंक में केवाईसी नहीं करवाई या बैंक में पंजीकृत मोबाइल नंबर बदल दिया है, लेकिन कई ऐसे उपभोक्ता भी हैं, जिनके सारे दस्तावेज पूरे होने के बाद भी सब्सिडी नहीं पहुंच रही।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *