अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मातृशक्ति ने प्रदेश की परिधान संस्कृति से कराया रूबरू

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मातृशक्ति ने प्रदेश की परिधान संस्कृति से रूबरू कराया। अलग-अलग क्षेत्र के पारंपरिक परिधानों में सजी महिलाओं ने रैंप पर कदमताल की तो पहाड़ की संस्कृति जीवंत हो उठी। हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। अवसर था ‘उत्तराखंडी परिधान, म्यर पहचाण’ प्रतियोगिता का। इसका आयोजन महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग ने किया था।

भावी पीढ़ी को उत्तराखंड के परंपरागत परिधानों से परिचित कराने के लिए महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग ने बीते माह इस प्रतियोगिता के लिए तीन वर्गों (नौनी/चेली, सैणी और आमा) में आवेदन मांगे थे। तीनों वर्गों के लिए गढ़वाल व कुमाऊं मंडल से 80 प्रतिभागियों का लॉटरी के जरिये चयन किया गया। प्रतियोगिता का आयोजन सोमवार को जीएमएस रोड स्थित एक होटल में हुआ। उत्तराखंडी परिधान के साथ पहुंचीं मुख्य अतिथि महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रेखा आर्य ने विभाग के सचिव एचसी सेमवाल के साथ संयुक्त रूप से दीप जलाकर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इसके बाद चयनित प्रतिभागियों ने मंच पर कुमाऊंनी पिछौड़ा, गढ़वाली गांती धोती, जौनसारी कोटी घाघरा समेत प्रदेश के तमाम पारंपरिक परिधानों का प्रदर्शन किया।

कार्यक्रम में पद्मश्री जागर गायिका बसंती बिष्ट ने भी शिरकत की। उन्होंने जागरों के माध्यम से उत्तराखंड के इतिहास और संस्कृति से रूबरू करा सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस मौके पर विभाग के उपनिदेशक एसके सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी अखिलेश मिश्र, भारती तिवारी, एसके त्रिपाठी, मुकुल चौधरी मौजूद रहे।मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि बीते कुछ वर्षों में पारंपरिक परिधानों की अनदेखी के कारण इनका उपयोग सांस्कृतिक मंच तक सिमट कर रह गया है। हालांकि, पर्वतीय व मैदानी ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं ने इस संस्कृति को आगे बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि पारंपरिक परिधानों को प्रोत्साहन और उनके संरक्षण पर जोर दिया जाना चाहिए।

प्रतियोगिता के परिणाम देर शाम जारी हुए। इसमें नौनी/चेली वर्ग में गढ़वाल मंडल से पूजा डुंगरियाल (चमोली), सिमरन (उत्तरकाशी), नेहा (उत्तरकाशी) और कुमाऊं मंडल से साक्षी ग्वाल (पिथौरागढ़), दीक्षा बिष्ट (ऊधमसिंह नगर) व अमनदीप कौर (ऊधमसिंह नगर) क्रमश: प्रथम, द्वितीय व तृतीय रहीं। सैणी वर्ग में गढ़वाल मंडल से कमला राणा (उत्तरकाशी), ममता बम्पाल (चमोली), सुषमा भंडारी (चमोली) और कुमाऊं मंडल से ममीरा ग्वाल (पिथौरागढ़), दीप्ति बिष्ट (नैनीताल), लक्ष्मी भंडारी (चंपावत) ने क्रमश: प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान हासिल किया। आमा वर्ग में गढ़वाल मंडल से सुषमा रावत (पौड़ी), मंजू नेगी (उत्तरकाशी), नंदी राणा (चमोली) और कुमाऊं मंडल से शांति मार्छाल (पिथौरागढ़), राधा तिवारी (अल्मोड़ा), सरस्वती पुनेठा (चंपावत) ने क्रमश: प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान हासिल किया।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *