स्वास्थ्य लाभ की कामना के लिए उत्तराखंड में चीन सीमा से सटे देश के अंतिम गांव नीति माणा से भागीदारी

कोरोना में मारे गए नागरिकों को श्रद्धांजलि देने और संक्रमितों की स्वास्थ्य लाभ की कामना के लिए उत्तराखंड में चीन सीमा से सटे देश के अंतिम गांव नीति माणा से नेपाल सीमा से लगते पिथौरागढ़ जिले के सुदूरवर्ती गांवों तक के बाशिंदों ने भागीदारी की। बदरीनाथ और केदारनाथ समेत चारों धामों में विशेष पूजा अर्चना की गई तो हरिद्वार में गंगाजी का दुग्धाभिषेक किया। शहर, गांव कस्बे, बाजार, सरकारी दफ्तरों से लेकर गली-मोहल्लों तक प्रार्थना सभाएं, हवन, कीर्तन, श्रद्धांजलि सभाएं आयोजित की गई। धर्मगुरुओं ने वैश्विक महामारी से जल्द निजात पाने की कामना की। पुलिस, प्रशासन, अर्द्धसैनिक बलों के साथ ही राजनीतिक दलों ने की इस आयोजन में भागदारी की।

देहरादून रेलवे स्टेशन पर सर्व धर्म प्रार्थना में हिस्सा लेते रेलवे अधिकारी व कर्मचारी।सिविल अस्पताल रुड़की में सोमवार को सर्व धर्म प्रार्थना का आयोजन किया गया। जिसमें कोरोना से जिन लोगों की जान गई है। उनकी आत्मा की शांति एवं जो लोग कोरोना से पीड़ित हैं उनके अच्छे स्वास्थ्य के लिए दो मिनट का मौन रखकर प्रार्थना की गई।सिविल अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ संजय कंसल ने दैनिक जागरण की ओर से आयोजित सर्वधर्म प्रार्थना के बारे में चिकित्सकों एवं स्टाफ को विस्तार से बताया।

एम्स ऋषिकेश के आईसीयू के भीतर प्रार्थना करते नर्सिंग ऑफिसर एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मी।दैनिक जागरण के सर्व धर्म प्रार्थना सभा के तहत रुड़की के साकेत स्थित दुर्गा चौक मंदिर में कोरोना मृतकों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए हवन करते पुरोहित कल्याण ट्रस्ट रुड़की के पदाधिकारी।

हरिद्वार में हरकी पैड़ी पर सर्वधर्म प्रार्थना सभा से पहले मृतक आत्मा की शांति के लिए गंगा पूजन करते श्री गंगा सभा के अध्यक्ष प्रदीप झा, भाजपा विधायक आदेश चौहान व अन्य।

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ऋषिकेश कैंप कार्यालय में स्टाफ के साथ प्रार्थना करते हुए।

देशभर में कोरोना महामारी में जान गंवाने वालों को श्रद्धांजलि देने को दैनिक जागरण की पहल पर सर्व धर्म प्रार्थना कार्यक्रम के तहत दिवंगत व्यक्तियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते उच्च शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ धन सिंह रावत।

रुड़की में मदरसा इमदादुल इस्लाम मे दैनिक जागरण के आह्वान पर कोरोना महामारी में जो लोग इस दुनिया को छोड़कर चले गए है उनकी मगफिरत के लिए दुआ की गई। साथ जो बीमार है उनकी शिफा के लिए मुफ़्ती रियासत अली ने दुआ कराई।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *