शान सम्मान के साथ हुई श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी की पेशवाई

श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी की पेशवाई आन, बान और शान के साथ निकाली जा रही है। पेशवाई का आरंभ दक्ष मंदिर से हुआ। परंपरा अनुसार पेशवाई में सबसे आगे अखाड़ों की धर्म ध्वजा, उसके बाद देवता और आचार्य महामंडलेश्वर का रथ चल रहा था। हरिद्वार कुंभ के निमित्त अखाड़ों की पेशवाई का दौर जारी है। इस कड़ी में महानिर्वाणी अखाड़े की पेशवाई कनखल स्थित दक्षेश्वर मंदिर से दोपहर करीब साढ़े 12 बजे शुरू हुई।अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी ने बताया कि पेशवाई दक्ष मंदिर से होते हुए श्री यंत्र मंदिर, जगजीतपुर, बूढ़ी माता मंदिर देशरक्षक तिराहा होते हुए बंगाली मोड़ से छावनी में प्रवेश करेगी।

संन्यासी अखाड़े मारवाड़ी की सोमवार आठ मार्च को निकलने वाली पेशवाई के बाद मंगलवार नौ मार्च को अटल अखाड़ा की पेशवाई निकलेगी। इसके साथ ही संन्यासी अखाड़ों की पेशवाई का क्रम समाप्त हो जाएगा।पेशवाई के बाद महाशिवरात्रि स्नान की तैयारियां शुरू हो जाएंगी। महाशिवरात्रि स्नान केवल संन्यासी अखाड़े ही करते हैं। इस स्नान में सबसे पहले जूना अखाड़ा, उसके बाद निरंजनी अखाड़ा और फिर महानिर्वाणी अखाड़ा स्नान करेगा।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *