पुरानी पेंशन बहाली लेकर 13 सितंबर को परिवार सहित भूख हड़ताल पर बैठेंगे देशभर के सरकारी कर्मचारी

पेंशन बहाली की मांग को लेकर कर्मचारी अब आंदोलन तेज करने लगे हैं। आज हुई बैठक में निर्णय हुआ कि सभी कर्मचारी 13 सितंबर को भूख हड़ताल करेंगे। वो भी परिवार समेत।राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली सँयुक्त मोर्चा की राष्ट्र कार्यकारिणी की बैठक बी0पी0 रावत की अध्यक्षता में हुई वह राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं।

यहां वक्तओं ने कहा कि पुरानी पेंशन योजना कर्मचारी का सेवानिवृत्त के बाद बुढ़ापे का सहारा है। एन0पी0एस0 को सरकारों द्वारा 2004 के बाद लागू किया गया है जो कि मात्र बाजारीकरण पर निर्भर है और एन0पी0एस0 का पैसा शेयर मार्किटो में सरकारों द्वारा लगाया जा रहा है जो कि कर्मचारियौ के साथ मात्र एक छलावा है। पुरानी पेंशन यौजना के तहत कर्मचारी अपनी जमा धनराशि में से जी0पी0एफ0 भी निकाल सकता था परन्तु एन0पी0एस0 में निकालने की कोई स्प्ष्ट ब्यवस्ता नही है और अभी तक जो भी कर्मचारी एन0पी0एस0 से आच्छादित थे और सेवानिवृत्त हो रहे है उनको पेंशन के नाम पर 800 से अधिकतम 1300 तक ही पेंशन मिल रही है जो कि एन0पी0एस0 कर्मचारियौ के लिए धोखे से बड़ा कुछ नही है।

राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली सँयुक्त मोर्चा के बैनर तले देश मे 60 लाख कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली हेतु निरन्तर प्रयासरत है और इस जायज मांग के लिए कई आंदोलन भी कर चुके है। निर्णय लिया गया कि दिनांक 13 सितंबर 2020 को परिवार सहित उपवास रखा जाएगा एवं एवम साय 3 बजे से 6 बजे तक ट्वीटर पर पुरानी पेंशन बहाल करो के स्लोगन लिखकर मनानीय प्रधानमंत्री जी, मननीय वित्त मंत्री भारत सरकार एवम अपने-अपने राज्यों के मुख्यमंत्री जी को टेग किया जाएगा। बैठक में राष्ट्रीय मुख्य सलाहकार अनिल स्वदेशी दिल्ली विश्वविद्यालय, राष्ट्रीय आई0टी0सेल प्रभारी मिलेंद्र बिष्ट, संजय शर्मा, बीरेंद्र दुबे छतीसगढ, प्रवीण हिमाचल प्रदेश, एल0डी0चैहान, गुलजबेर डे, भूपेंद्र,े जसवीर तलवाड़ा पंजाब, आलोक चन्द्र प्रकाश, डॉ0 पंकज गुजरात,श्री सियाराम पटेल मध्यप्रदेश, अनिल बडोनी उत्तराखण्ड आदि पदधिकारियौ ने बैठक में शिरकत की।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *