क्वारंटाइन सेंटरों में ख़राब इंतज़ाम पर भड़के लोग

मुनिकीरेती नगर पालिका क्षेत्र की घनी आबादी के बीच बनाए क्वारंटाइन सेंटरों में अव्यवस्था पर लोगों का पारा चढ़ गया। पालिका सभासदों के साथ एसडीएम नरेंद्रनगर का घेराव कर नाराजगी जतायी। चेताया कि क्वारंटाइन सेंटर में जल्द पानी आदि बुनियादी सुविधाएं बहाल नहीं कि तो आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। एसडीएम के उचित कार्रवाई के आश्वासन पर आक्रोशित लोग शांत हुए। रविवार को मुनिकीरेती नगर पालिका सभासद सुभाष चौहान और वीरेंद्र चौहान के नेतृत्व में क्षेत्रवासी गंगा रिसोर्ट पहुंचे और यहां मौजूद एसडीएम नरेंद्रनगर युक्ता मिश्रा का घेराव कर खरी खोटी सुनाई। आक्रोशित लोगों ने आरोप लगाया कि मुनिकीरेती थाना क्षेत्र में प्रशासन ने घनी आबादी के बीच शैक्षणिक संस्थानों में क्वारंटाइन बनाए, लेकिन जनहित सुरक्षा से लेकर पेयजल, भोजन आदि के इंतजाम नहीं किए।

एक शिक्षण संस्थान में बने क्वारंटाइन सेंटर के आसपास संस्थान का स्टॉफ भी रहता है, जिससे संक्रमण फैलाव का खतरा है। सामाजिक कार्यकर्ता मनीष डिमरी ने आरोप लगाया कि एक शिक्षण संस्थान में बना क्वारंटाइन सेंटर दो होमगार्डो के भरोसे चल रहा है। बिना तैयारी के बनाए क्वारंटाइन सेंटर स्थानीय लोगों के लिए घातक बन सकते हैं। दरअसल, क्वारंटाइन सेंटर में पानी आदि की व्यवस्था नहीं है, ऐसे में क्वारंटाइन बनाए गए लोग आसपास के लोगों से जरूरत का सामान मांगते हैं। जल्द सुधार नहीं किया गया तो स्थानीय लोग प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल देंगे। काफी जद्दोजहद के बाद एसडीएम युक्ता मिश्रा से उचित कार्रवाई का आश्वासन मिलने पर लोग शांत हुए। प्रदर्शन में युगल ध्यानी, गौरव खंडूड़ी, देवेश उनियाल, जगमोहन नेगी, सतीश चमोली, कैलाश जोशी, शंकर नौटियाल आदि शामिल थे।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *