उत्तराखंड में बारिश का सितम जारी, बदरीनाथ-केदारनाथ हाईवे और यमुनोत्री पैदल मार्ग बंद

राजधानी देहरादून समेत उत्तराखंड के कई इलाकों में मंगलवार को भी बादल छाये हुए हैं और भारी बारिश होने का आसार बने हुए हैंं। मौसम केंद्र के अनुसार, पिथौरागढ़, बागेश्वर, नैनीताल, चंपावत, पौड़ी, हरिद्वार, टिहरी, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी जिलों में ज्यादातर स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। अल्मोड़ा, उधमसिंहनगर और चमोली जिलों में कुछ स्थानों पर तेज हवाओं के साथ हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। वहीं, रुद्रप्रयाग में सुबह से ही हल्की बारिश हो रही है।

गौरीकुंड हाईवे पर भूस्खलन से तीसरे भी आवाजाही ठप पड़ी है। सोमवार को बादल फटने की घटना के बाद से ही आपदा प्रभावित गांव में अब भी स्थिति खराब बनी हुई है। यमुनोत्री धाम के पास उच्च हिमालय क्षेत्र में रात को बारिश के कारण मलबा आने से पैदल मार्ग अवरुद्व हो गया है। चमोली जिले में बदरीनाथ हाईवे पर मैठाणा, बाजपुर, छिनका, भनेरपाणी, काली मंदिर, पागलनाला, लामबगड़ में मलबा और बोल्डर आने से यातायात ठप हो गया है। गोपेश्वर मार्ग पर अलकापुरी, नरोधार, थराली में देवाल मार्ग के बीच सड़क पर मलबा आने के कारण रास्ता बंद है। श्रीनगर में अलकनंदा नदी का जल स्तर खतरे के निशान के पास पहुंच गया है। बदरीनाथ नेशनल हाईवे के तोता घाटी में बंद होने पर वैकल्पिक मार्ग के रूप में प्रयोग होने वाला देवप्रयाग-गजा मोटर मार्ग भी लसेर के पास बंद हो गया है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *