परिवहन निगम के अफसरों का कहना है कि टनकपुर से आगे सड़क टूटने के कारण बस को भेजना संभव नहीं

 हल्द्वानी टू रीठा साहिब मार्ग पर चलने वाली बस पिछले दस दिन से रीठा साहिब नहीं गई। परिवहन निगम के अफसरों का कहना है कि टनकपुर से आगे सड़क टूटने के कारण बस को भेजना संभव नहीं है। वहीं, संचालन बंद होने की वजज से इस मार्ग के यात्रियों को खास परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। केमू व टैक्सी ही एकमात्र विकल्प बचा है। वहीं, दूनागिरी व जौरासी के लिए हल्द्वानी डिपो द्वारा पहले दो अलग-अलग बसें भेजी जाती थी। लेकिन अब निगम द्वारा यात्रियों व एक ही रूट का हवाला देकर एक ही बस का संचालन किया जा रहा है।

वरिष्ठ स्टेशन प्रभारी इंदिरा भट्ट ने बताया कि रीठा साहिब के लिए एक गाड़ी को रोज रवाना किया जाता था। मगर अब सड़क खराब होने के चक्कर में बस नहीं भेजी जा रही। निगम का कहना है कि बरसात के दिनों में अक्सर पर्वतीय मार्गों पर ऐसे हालात का सामना करना पड़ता है। बता दें कि बारिश के सीजन में पर्वतीय मार्गों का रास्‍ता काफी खतरनाक हो जाता है। ऐसे में पर्वतीय मार्गों वाहन संचालन के दौरान खतरा बना रहा है। पहाड़ी से आने वाले मसबे हादसे का सबब बनते हैं।

तीन दिन से दिल्ली रूट पर चल रही अनुबंधित वाल्वो बस को सवारियां नहीं मिल रही। मंगलवार को बस स्टेशन पर दो घंटे तक खड़े रहने पर भी जब यात्री नहीं पहुंचे तो गाड़ी को दोबारा डिपो भेजना पड़ा। रविवार व सोमवार को भी संख्या के लिहाज से यात्री नहीं मिले थे। वहीं, रोडवेज कर्मचारी संगठन शुरू से इन अनुबंधित बसों के संचालन को लेकर विरोध में थे। ऐसे में इन बसों के संचालन को लेकर अब असमंजस की स्थिति है।

 

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *