भाजपा के वरिष्ठ नेता लालजी टंडन का लखनऊ के मेदांता अस्पताल में निधन

बीमारी के चलते मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का लखनऊ के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया। लालजी टंडन को पिछले कुछ दिनों से किडनी के साथ-साथ उनके लिवर में भी इंफेक्शन हो गया था। वे लखनऊ के मेदांता अस्पताल में 11 जिन से भर्ती थे। आज सुबह करीब 5.35 बजे मेदांता अस्पताल में अंतिम सांस ली। स्वर्गीय टंडन के अंतिम दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर सुबह दस से मध्याह्न 12 बजे तक हजरतगंज के त्रिलोकनाथ रोड स्थित कोठी नं नौ पर रखा जाएगा। इसके बाद उनका पार्थिव शरीर उनके सोंधी टोला, चैक, लखनऊ स्थित आवास पर जाएगा। वहीं से अपराह्न करीब चार बजे गुलाला घाट के लिए अंतिम यात्रा प्रस्थान करेगी, तथा उनका अंतिम संस्कार राजधानी लखनऊ के चैक स्थित गुलाला घाट पर आज ही अपराह्न 4.30 बजे होगा। स्वर्गीय टंडन के बेटे और उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री अशुतोष टंडन ने अपने ट्वीट में लोगों से अपील की है कि करोना आपदा के कारण सभी लोग शासन द्वारा निर्धारित दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए अपने-अपने घरों से ही बाबूजी को श्रद्धा-सुमन अर्पित करें, जिससे कि शारीरिक दूरी का पालन हो सके।

     प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर लिखा, लालजी टंडन संवैधानिक मामलों के अच्छे जानकार थे। वे अटल जी के करीबी थे, उनके साथ लंबे वक्त तक रहे। दुख की इस घड़ी में लालजी टंडन के परिवार और शुभचिंतकों को मेरी संवेदनाएं। पीएम मोदी ने कहा कि लालजी टंडन को समाज की सेवा के लिए उनके अथक प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। उन्होंने उत्तर प्रदेश में भाजपा को मजबूत करने में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने एक प्रभावी प्रशासक के रूप में अपनी पहचान बनाई, हमेशा लोक कल्याण को महत्व दिया। उनके निधन से दुखी हूं।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *