टी-90 टैंक में इस्तेमाल होने वाली दूरबीन यंत्र दून में बन रही है, सेना को सप्लाई शुरू की

टी-90 टैंक में उपयोग के लिए विदेश से जिस दूरबीन यंत्र को सेना के लिए 40 लाख रुपये में मंगवाया जा रहा था, वह ऑर्डनेंस फैक्ट्री देहरादून में तीन लाख रुपये में बनकर तैयार हो गई है। ओएफडी ने डिवाइस की सेना को सप्लाई शुरू कर दी है। डिवाइस के ट्रायल के बाद आयुध निर्माणी को 100 ऑर्डर मिल गए हैं।

आत्मनिर्भर भारत अभियान सप्ताह के तहत ऑर्डनेंस फैक्ट्री देहरादून (ओएफडी) के जीएम पीके दिक्षित ने डिवाइस की जानकारी दी। बताया कि डिवाइस पूरी तरह भारतीय उपकरणों से तैयार की गई है। इसका वजन 4.6 किलोग्राम है, जिसमें कई लैंस लगे हैं। इन्हें टी-90 टैंक से निशाना साधते वक्त उपयोग किया जाता है।

टैंक के लिए अभी तक इस डिवाइस को विदेश से मंगवाया जा रहा था। अब विदेश के बजाय ओएफडी इसकी सेना को सप्लाई करेगी। मंगलवार को आयुध निर्माणी स्थित निरीक्षण भवन में कई महत्तपूर्ण संयंत्र के बारे में जानकारी दी गई। इस मौके पर अपर महाप्रबंधक कैलाश प्रसाद, अपर महाप्रबंधक एससी झा, अपर महाप्रबंधक आरसी शर्मा, संयुक्त महाप्रबंधक वीएस चौधरी, संयुक्त महाप्रबंधक शर्मिष्ठा कौल शामिल रहे।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *