संक्रमित व्यक्ति के एयरोसोल 10 मीटर तक फैल सकते हैं, सरकार ने कोरोना पर जारी की नई गाइ़डलाइन

कोरोना से संक्रमित मरीज के एयरोसोल 10 मीटर की दूरी तक फैल सकते हैं। जबकि ड्रॉपलेट्स 2 मीटर तक जाते हैं। सरकार ने कोरोना को लेकर नई एडवाइजरी की। प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार के विजय राघवन के ऑफिस से जारी गाइडलाइंस में कहा गया है कि जिन लोगों में कोरोना के लक्षण नजर नहीं आते है, लेकिन वह लोग भी संक्रमण फैला सकते हैं। इसलिए हर किसी को कोरोना गाइडलाइन का सख्ती के साथ पालन करना चाहिए।

स्टॉप द ट्रांसमिशन, क्रश द पेन्डेमिक के नाम से जारी किए गए डॉक्यूमेंट्स में सरकार ने खास तौर से वेंटिलेशन की अहमियत पर जोर दिया है। इसमें कहा गया है कि जिन जगहों पर वेंटिलेशन की अच्छी सुविधा होती है, वहां किसी संक्रमित से दूसरे में संक्रमण फैलने का खतरा कम रहता है। साथ ही कहा गया है कि खिड़की-दरवाजे बंद रखकर AC चलाने से कमरे के अंदर संक्रमित हवा इकट्ठी हो जाती है और दूसरे लोगों को संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। इस वायरल लोड बनाने लायक अधिक ड्रापलेट्स छोड़ सकता है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *