मुख्यमंत्री धामी ने सचिवालय के दरवाजे खोलने को फिर से शुरू करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए

कोरोना संक्रमण के कम होते प्रभाव को देखते हुए सरकार तकरीबन साढ़े तीन माह बाद अब आमजन के लिए भी सचिवालय के दरवाजे खोलने जा रही है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस व्यवस्था को फिर से शुरू करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। सचिवालय प्रदेश की मुख्य प्रशासनिक इकाई है। यहां दूर दराज क्षेत्रों के लिए स्वीकृत योजनाओं में आ रही समस्याओं के निराकरण को स्थानीय निवासी सचिवालय आते हैं। बाहर से आने वाले व्यक्तियों से मिलने के लिए अधिकारियों ने समय-सीमा भी तय की हुई है। इससे प्रदेश की विकास योजनाओं को भी गति मिलती है।प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के कारण 16 अप्रैल को तत्कालीन मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने सचिवालय में विभागीय बैठकों के साथ ही बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक लगा दी थी। सचिवालय में केवल मंत्री व विधायकों को आने की छूट दी गई। तब से यह व्यवस्था अनवरत जारी है। सचिवालय में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर अभी तक रोक है।

कोरोना संक्रमण के कम होते मामलों को देखते हुए सरकार ने अब सभी कार्यालयों में शत प्रतिशत उपस्थिति शुरू कर दी है। सचिवालय में भी बैठकों का दौर शुरू हो चुका है। ऐसे में सचिवालय में प्रवेश को लेकर लगातार सरकार से अनुरोध किया जा रहा है। मंगलवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों को सचिवालय में आम जन के प्रवेश को अनुमति देने के निर्देश जारी किए हैं। इस क्रम में जल्द ही विधिवत आदेश जारी होने की उम्मीद है।मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को सरकार के एक माह पूरा होने पर सचिवालय में मीडिया कर्मियों को आमंत्रित किया। इस दौरान उन्होंने मीडियाकर्मियों से मुलाकात कर उनकी कुशलक्षेम जानी। हालांकि, इस दौरान उन्होंने न कोई प्रश्न लिए और न ही किसी अन्य मुद्दे पर चर्चा की। एक माह का कार्यकाल पूरा होने पर वह आत्मविश्वास से लबरेज भी नजर आए। उन्होंने सहज भाव से बातचीत भी की।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *