उत्तराखंड में मौसम ने फिर ली करवट; केदारनाथ और बदरीनाथ धाम में हिमपात शुरू

उत्तराखंड में मौसम ने फिर करवट बदल ली है। ताजा पश्चिमी विक्षोभ हिमालयी क्षेत्र में पहुंचने के कारण प्रदेश में बादलों ने डेरा डाला और देर शाम केदारनाथ और बदरीनाथ धाम में हिमपात शुरू हुआ।  मैदानी इलाकों में भी झकड़ के साथ झमाझम बारिश शुरू हुई। कई इलाकों में भारी ओलावृष्टि की भी सूचना है। मौसम के करवट बदलने से तापमान ने भी गोता लगाया है। प्रमुख शहरों के अधिकतम और न्यूनतम तापमान में तीन से पांच डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई।  केदारनाथ धाम में बर्फबारी के बीच श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला जारी है। रविवार देर शाम केदारनाथ समेत ऊंची चोटियों पर बर्फबारी हुई, जिससे केदारपुरी का मौसम ठंडा हो गया। रविवार शाम 5 बजे बाद केदारपुरी में कोहरा छाने के बाद बर्फबारी शुरू हो गई। ऊंची चोटियों पर हल्की बर्फवारी होने से मौसम ठंडा हो गया।उत्तराखंड में बीते मंगलवार को भारी बारिश से आई आफत के बाद मौसम कुछ दिन सामान्य रहा, लेकिन शनिवार को मौसम ने फिर करवट बदली और प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में बादलों ने डेरा डाल दिया।

देर शाम तक केदारनाथ की चोटियों पर हिमपात हुआ। इसके बाद मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक ही रविवार को भी प्रदेश में सुबह से ही बादलों का डेरा रहा। दोपहर बाद कहीं-कहीं हल्की बारिश भी हुई। देर शाम मैदानों में तेज हवाओं के साथ झमाझम बारिश शुरू हुई। दून के समीपवर्ती इलाकों में ओलावृष्टि की भी हुई।केदारनाथ और बदरीनाथ धाम में लगातार दूसरे दिन हिमपात हुआ। कुमाऊं में देर शाम के बारिश के कारण लोग फिर से दहशत में आ गए। पिथौरागढ़ में भी ऊंची चोटियों पर हल्का हिमपात हुआ। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक आज प्रदेश में सामान्यत: मौसम साफ रहने के आसार हैं।  कहीं-कहीं हल्की बारिश हो सकती है।मैदानों में बारिश और पहाड़ों में बर्फबारी के चलते प्रदेश में ज्यादातर क्षेत्रों में तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई। देहरादून में अधिकतम तापमान 25.8 डिग्री सेल्यिसस पर आ गया, जिसमें करीब चार डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। इसके अलावा नैनीताल और मसूरी में भी तापमान में तीन से पांच डिग्री सेल्सियस तक गिर गया, जिससे शाम को ठंड का अहसास होने लगा। पहाड़ी इलाकों में सुबह-शाम कड़ाके की ठंड महसूस की जा रही है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *